Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Feb 2024 · 1 min read

ग़ज़ल सगीर

गरीबों की शिकायत लाजमी है।
अभी भी दूर उनसे रोशनी है।
❤️
अपना अपना सिर्फ करना।
बताओ यह भी कोई जिंदगी है।
❤️
फरिश्ते सब लिख रहे है।
सभी के हाथ में नेकी बदी है।
❤️
खरी बातें मैं सबसे बोलता हूं।
सभी से दुश्मनी अब हो गई है।
❤️
ज़माने को असर अंदाज़ कर दे।
सगी़र ऐसी हमारी शायरी है।
❤️❤️❤️❤️❤️
डा०सगी़र अहमद सिद्दीकी खैरा बाजार बहराइच

Language: Hindi
44 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
*धन्य अयोध्या जहॉं पधारे, पुरुषोत्तम भगवान हैं (हिंदी गजल)*
*धन्य अयोध्या जहॉं पधारे, पुरुषोत्तम भगवान हैं (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
Lines of day
Lines of day
Sampada
कि लड़का अब मैं वो नहीं
कि लड़का अब मैं वो नहीं
The_dk_poetry
माँ की याद आती है ?
माँ की याद आती है ?
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
बदलाव
बदलाव
Shyam Sundar Subramanian
3236.*पूर्णिका*
3236.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
कुछ तो होता है ना, जब प्यार होता है
कुछ तो होता है ना, जब प्यार होता है
Anil chobisa
जानना उनको कहाँ है? उनके पते मिलते नहीं ,रहते  कहीं वे और है
जानना उनको कहाँ है? उनके पते मिलते नहीं ,रहते कहीं वे और है
DrLakshman Jha Parimal
■ प्रयोगात्मक कवित-
■ प्रयोगात्मक कवित-
*Author प्रणय प्रभात*
*ढूंढ लूँगा सखी*
*ढूंढ लूँगा सखी*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
ख़्बाब आंखों में बंद कर लेते - संदीप ठाकुर
ख़्बाब आंखों में बंद कर लेते - संदीप ठाकुर
Sandeep Thakur
कुछ नही हो...
कुछ नही हो...
Sapna K S
नैनों में प्रिय तुम बसे....
नैनों में प्रिय तुम बसे....
डॉ.सीमा अग्रवाल
बदला लेने से बेहतर है
बदला लेने से बेहतर है
शेखर सिंह
भारत को निपुण बनाओ
भारत को निपुण बनाओ
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
राह कठिन है राम महल की,
राह कठिन है राम महल की,
Satish Srijan
జయ శ్రీ రామ...
జయ శ్రీ రామ...
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
जब कोई बात समझ में ना आए तो वक्त हालात पर ही छोड़ दो ,कुछ सम
जब कोई बात समझ में ना आए तो वक्त हालात पर ही छोड़ दो ,कुछ सम
Shashi kala vyas
आसां  है  चाहना  पाना मुमकिन नहीं !
आसां है चाहना पाना मुमकिन नहीं !
Sushmita Singh
Kitna hasin ittefak tha ,
Kitna hasin ittefak tha ,
Sakshi Tripathi
"मशवरा"
Dr. Kishan tandon kranti
*आशाओं के दीप*
*आशाओं के दीप*
Harminder Kaur
🙏 अज्ञानी की कलम🙏
🙏 अज्ञानी की कलम🙏
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
शाबाश चंद्रयान-३
शाबाश चंद्रयान-३
Jeewan Singh 'जीवनसवारो'
वर्षा रानी⛈️
वर्षा रानी⛈️
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
काव्य की आत्मा और सात्विक बुद्धि +रमेशराज
काव्य की आत्मा और सात्विक बुद्धि +रमेशराज
कवि रमेशराज
महाकविः तुलसीदासः अवदत्, यशः, काव्यं, धनं च जीवने एव सार्थकं
महाकविः तुलसीदासः अवदत्, यशः, काव्यं, धनं च जीवने एव सार्थकं
AmanTv Editor In Chief
मैं उन लोगो में से हूँ
मैं उन लोगो में से हूँ
Dr Manju Saini
किसान
किसान
Bodhisatva kastooriya
सच को तमीज नहीं है बात करने की और
सच को तमीज नहीं है बात करने की और
Ranjeet kumar patre
Loading...