Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Jun 2023 · 1 min read

ग़ज़ल/नज़्म/मुक्तक – बिन मौसम की बारिश में नहाना, अच्छा है क्या

बिन मौसम की बारिश में नहाना, अच्छा है क्या?
सच को झूठ से आईना दिखाना‌, अच्छा है क्या?

देश और अवाम वास्ते हो सियासत, तो अच्छी लगे,
हाकिम का अवाम को उल्लू बनाना, अच्छा है क्या?

हमेशा नज़रंदाज़ करता हूँ जो मैं, अपने गिरेबाँ को,
फिर मेरा हर तरफ़ उंगली उठाना, अच्छा है क्या?

बड़ी आसानी से इल्ज़ाम लगाता है वो, बेवफाईयों के मुझ पे,
उसका मजबूरियों में मुझे आजमाना, अच्छा है क्या?

माना कि मेरा हालातों से युद्ध है तो है,‌ क्या शिकवा,
पर मेरे दुश्मन से तेरा हाथ मिलाना, अच्छा है क्या?

मैं जानता हूँ के मेरी शिकस्त मुकर्रर है, प्यार में,
ऐसे में ज़माने आगे मेरा गिड़गिड़ाना, अच्छा है क्या?

यार की आगोश के दो पल जो, मयस्सर हैं तुझे ‘अनिल’,
तो दूसरी जन्नत वास्ते हाथ फैलाना, अच्छा है क्या?

(मुकर्रर = निश्चित, निर्धारित इकरार किया हुआ, नियुक्त, नियत, अनुबंधित)
(मयस्सर = मिलना, प्राप्त होना, उपलब्ध होना, सुलभ होना)

©✍🏻 स्वरचित
अनिल कुमार ‘अनिल’
9783597507,
9950538424,
anilk1604@gmail.com

1 Like · 233 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from अनिल कुमार
View all
You may also like:
【30】*!* गैया मैया कृष्ण कन्हैया *!*
【30】*!* गैया मैया कृष्ण कन्हैया *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
जो
जो "अपने" का नहीं हुआ,
*Author प्रणय प्रभात*
साँप और इंसान
साँप और इंसान
Prakash Chandra
मौजु
मौजु
DR ARUN KUMAR SHASTRI
यूं ही नहीं हमने नज़र आपसे फेर ली हैं,
यूं ही नहीं हमने नज़र आपसे फेर ली हैं,
ओसमणी साहू 'ओश'
"प्रेमको साथी" (Premko Sathi) "Companion of Love"
Sidhartha Mishra
जवानी में तो तुमने भी गजब ढाया होगा
जवानी में तो तुमने भी गजब ढाया होगा
Ram Krishan Rastogi
* सामने बात आकर *
* सामने बात आकर *
surenderpal vaidya
*नाम है इनका, राजीव तरारा*
*नाम है इनका, राजीव तरारा*
Dushyant Kumar
अजी क्षमा हम तो अत्याधुनिक हो गये है
अजी क्षमा हम तो अत्याधुनिक हो गये है
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
रस्म ए उल्फत भी बार -बार शिद्दत से
रस्म ए उल्फत भी बार -बार शिद्दत से
AmanTv Editor In Chief
Pyari dosti
Pyari dosti
Samar babu
वो ही तो यहाँ बदनाम प्यार को करते हैं
वो ही तो यहाँ बदनाम प्यार को करते हैं
gurudeenverma198
23/34.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/34.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
छह घण्टे भी पढ़ नहीं,
छह घण्टे भी पढ़ नहीं,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
It always seems impossible until It's done
It always seems impossible until It's done
Naresh Kumar Jangir
मुस्कराओ तो फूलों की तरह
मुस्कराओ तो फूलों की तरह
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
💐प्रेम कौतुक-232💐
💐प्रेम कौतुक-232💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
बुरा न मानो, होली है! जोगीरा सा रा रा रा रा....
बुरा न मानो, होली है! जोगीरा सा रा रा रा रा....
सत्यम प्रकाश 'ऋतुपर्ण'
"सुबह की चाय"
Pushpraj Anant
जीभ का कमाल
जीभ का कमाल
विजय कुमार अग्रवाल
"अपराध का ग्राफ"
Dr. Kishan tandon kranti
शायद ...
शायद ...
हिमांशु Kulshrestha
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
जग में उदाहरण
जग में उदाहरण
Dr fauzia Naseem shad
दोहे- उड़ान
दोहे- उड़ान
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
भूल गए हम वो दिन , खुशियाँ साथ मानते थे !
भूल गए हम वो दिन , खुशियाँ साथ मानते थे !
DrLakshman Jha Parimal
जिसने सिखली अदा गम मे मुस्कुराने की.!!
जिसने सिखली अदा गम मे मुस्कुराने की.!!
शेखर सिंह
ग़ज़ल/नज़्म - एक वो दोस्त ही तो है जो हर जगहा याद आती है
ग़ज़ल/नज़्म - एक वो दोस्त ही तो है जो हर जगहा याद आती है
अनिल कुमार
*भारतीय क्रिकेटरों का जोश*
*भारतीय क्रिकेटरों का जोश*
Harminder Kaur
Loading...