Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Jul 2016 · 1 min read

खुशियों से मिलन

चंचल मन नीली सलोनी आँखे
तेरी जुल्फे काली घटा सावन
तू पूरब की परी रानी है
तू रूमानी शाम का आगमन

जोबन हुई कच्ची कली तू
सौरभ मधु सी भरी तन
तुम शीतल हो हिम सी
हरघडी देखे तुझे मेरे नयन

कुसुम खुशबू लायी पुरवा साथ
ज़िन्दगी को हुई खुशियों से मिलन
गुनगुनाने लगा मै गीत सरगम
नाच रहा मोर बनके आज मन

सपनो सी लग रही जमीं
इन्द्रधनुष सा दिल का गगन
ज्योति से आलोकित मेरी ज़िन्दगी
प्रेम रंग में रंगी मेरे आँगन

गवाह है पूनम का चाँद
है अमिट हमारी प्रीत बंधन
दुष्यंत देख फैली हुई नूर को
मौजों छलक रहा है जीवन

Language: Hindi
Tag: कविता
183 Views
You may also like:
उम्मीद है कि वो मुझे .....।
J_Kay Chhonkar
मन ही बंधन - मन ही मोक्ष
Rj Anand Prajapati
■ ग़ज़ल / धूप की सल्तनत में... 【प्रणय प्रभात】
*प्रणय प्रभात*
तरुवर (कुंडलिया)
Ravi Prakash
#होई_कइसे_छठि_के_बरतिया-----?? (मेलोडी)
संजीव शुक्ल 'सचिन'
पागल हूं जो दिन रात तुझे सोचता हूं।
Harshvardhan "आवारा"
मदहोशी से निकलूं कैसे
Seema 'Tu hai na'
आया यह मृदु - गीत कहाँ से!
Anil Mishra Prahari
अपने पल्ले कुछ नहीं पड़ता
Shekhar Chandra Mitra
✍️मेरी जान मुंबई है✍️
'अशांत' शेखर
नील छंद "विरहणी"
बासुदेव अग्रवाल 'नमन'
मंजिल को अपना मान लिया !
Kuldeep mishra (KD)
फिर झूम के आया सावन
Vishnu Prasad 'panchotiya'
जान से प्यारा तिरंगा
डॉ. शिव लहरी
गर बुरा लगता हूं।
Taj Mohammad
गुरू गोविंद
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
मित्र
जगदीश लववंशी
नम पड़ी आँखों में सवाल फिर वही है, क्या इस...
Manisha Manjari
पुस्तक समीक्षा -एक थी महुआ
Rashmi Sanjay
यकीं करते हैं जो खुद पर
Dr fauzia Naseem shad
💐💐ये पदार्थानां दास भवति।ते भगवतः भक्तः न💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
जिंदगी: एक संघर्ष
Aditya Prakash
तितली
Manshwi Prasad
बरसात की झड़ी ।
Buddha Prakash
कुण्डलिया
Dr. Sunita Singh
स्वर्ग नरक का फेर
Dr Meenu Poonia
आँखों में आँसू क्यों
VINOD KUMAR CHAUHAN
अगर नशा सिर्फ शराब में
Nitu Sah
बहुत कुछ कहना है
Ankita
What you are ashamed of
AJAY AMITABH SUMAN
Loading...