Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
22 Feb 2024 · 1 min read

खुशियों से भी चेहरे नम होते है।

खुशियों से भी चेहरे नम होते है।
कौन कहता है कि रोने को बस गम होते है।।1।।

दिलों के दरम्यां फासले आते है।
जब रिश्तों में होने को अकीदे कम होते है।।2।।

दूसरों पर क्या उंगली उठाना यारों।
अपनी बरबादी की वजह खुद हम होते है।।3।।

ख्वाहिशात क्या बताएं हम अपने।
इस जिन्दगी में जानें कितने वहम होते है।।4।।

हर किसी की खैरियत पूंछा करो।
अदबो लिहाज़ जीने में बड़े अहम होते है।।5।।

मजहबे इंसा है या इंसाने मजहब।
अदीबों और आलिमों से यह हम पूंछते है।।6।।

ताज मोहम्मद
लखनऊ

40 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मन हमेशा इसी बात से परेशान रहा,
मन हमेशा इसी बात से परेशान रहा,
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
मुझे गर्व है अलीगढ़ पर #रमेशराज
मुझे गर्व है अलीगढ़ पर #रमेशराज
कवि रमेशराज
*॥ ॐ नमः शिवाय ॥*
*॥ ॐ नमः शिवाय ॥*
Radhakishan R. Mundhra
नन्हे बाल गोपाल के पाच्छे मैया यशोदा दौड़ लगाये.....
नन्हे बाल गोपाल के पाच्छे मैया यशोदा दौड़ लगाये.....
Ram Babu Mandal
क्या खोकर ग़म मनाऊ, किसे पाकर नाज़ करूँ मैं,
क्या खोकर ग़म मनाऊ, किसे पाकर नाज़ करूँ मैं,
Chandrakant Sahu
मेरे सब्र की इंतहां न ले !
मेरे सब्र की इंतहां न ले !
ओसमणी साहू 'ओश'
कुंडलिया छंद की विकास यात्रा
कुंडलिया छंद की विकास यात्रा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
रेत पर
रेत पर
Shweta Soni
स्वामी विवेकानंद
स्वामी विवेकानंद
मनोज कर्ण
अम्बर में अनगिन तारे हैं।
अम्बर में अनगिन तारे हैं।
Anil Mishra Prahari
"अक्ल बेचारा"
Dr. Kishan tandon kranti
लड़की की जिंदगी/ कन्या भूर्ण हत्या
लड़की की जिंदगी/ कन्या भूर्ण हत्या
Raazzz Kumar (Reyansh)
कलम लिख दे।
कलम लिख दे।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
छोड़ दूं क्या.....
छोड़ दूं क्या.....
Ravi Ghayal
If life is a dice,
If life is a dice,
DrChandan Medatwal
24/240. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
24/240. *छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
संस्कृति के रक्षक
संस्कृति के रक्षक
Dr. Pradeep Kumar Sharma
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Dr. Sunita Singh
माना सच है वो कमजर्फ कमीन बहुत  है।
माना सच है वो कमजर्फ कमीन बहुत है।
सत्येन्द्र पटेल ‘प्रखर’
“Your work is going to fill a large part of your life, and t
“Your work is going to fill a large part of your life, and t
पूर्वार्थ
शे’र/ MUSAFIR BAITHA
शे’र/ MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
देश की आज़ादी के लिए अंग्रेजों से लड़ते हुए अपने प्राणों की
देश की आज़ादी के लिए अंग्रेजों से लड़ते हुए अपने प्राणों की
Shubham Pandey (S P)
ढंका हुआ झूठ
ढंका हुआ झूठ
*Author प्रणय प्रभात*
ਪਰਦੇਸ
ਪਰਦੇਸ
Surinder blackpen
🍁मंच🍁
🍁मंच🍁
सुरेश अजगल्ले 'इन्द्र '
*लिख दी रामायण अनूठी वाल्मीकि जी ने (घनाक्षरी)*
*लिख दी रामायण अनूठी वाल्मीकि जी ने (घनाक्षरी)*
Ravi Prakash
यदि कोई केवल जरूरत पड़ने पर
यदि कोई केवल जरूरत पड़ने पर
नेताम आर सी
मुश्किलों से क्या
मुश्किलों से क्या
Dr fauzia Naseem shad
राधा की भक्ति
राधा की भक्ति
Dr. Upasana Pandey
*आओ मिलकर नया साल मनाएं*
*आओ मिलकर नया साल मनाएं*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
Loading...