Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#10 Trending Author
Jun 17, 2016 · 1 min read

खार जैसी भी अक्सर चुभी ज़िन्दगी

फूल सी ही न हँसती रही ज़िन्दगी
खार जैसी भी अक्सर चुभी ज़िन्दगी

प्यार नफरत ख़ुशी गम मिले इस तरह
गीत कविता ग़ज़ल में ढली ज़िन्दगी

नाव पतवार साहिल लिए साथ में
शांत बहती उफनती नदी ज़िन्दगी

चाँद सूरज सितारे खिलौने लिए
खेलती रात दिन से रही ज़िन्दगी

हमने इसको बसाया हर इक साँस में
मौत के पर गले जा लगी ज़िन्दगी

अर्चना वंदना सब यहाँ कर्म हैं
मोह में रहती है पर फँसी ज़िन्दगी

डॉ अर्चना गुप्ता

1 Like · 1 Comment · 294 Views
You may also like:
अफसोस-कर्मण्य
Shyam Pandey
HAPPY BIRTHDAY SHIVANS
KAMAL THAKUR
वो मेरा हो नहीं सकता
dks.lhp
कभी अलविदा न कहेना....
Dr. Alpa H. Amin
हर रोज योग करो
Krishan Singh
ग्रीष्म ऋतु भाग 1
Vishnu Prasad 'panchotiya'
हे कुंठे ! तू न गई कभी मन से...
ओनिका सेतिया 'अनु '
✍️तर्क✍️
"अशांत" शेखर
बेचैन कागज
Dr Meenu Poonia
मेरा अक्स तो आब है।
Taj Mohammad
चेहरे पर चेहरे लगा लो।
Taj Mohammad
दोहा छंद- पिता
रेखा कापसे
जख्म
Anamika Singh
माँ
अश्क चिरैयाकोटी
'परिवर्तन'
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
मानव_शरीर_में_सप्तचक्रों_का_प्रभाव
Vikas Sharma'Shivaaya'
लघुकथा: ऑनलाइन
Ravi Prakash
पराधीन पक्षी की सोच
AMRESH KUMAR VERMA
✍️शराब का पागलपन✍️
"अशांत" शेखर
शब्दों से परे
Mahendra Rai
हमारे पापा
पाण्डेय चिदानन्द
तमन्ना ए कल्ब।
Taj Mohammad
💐प्रेम की राह पर-34💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
आपस में तुम मिलकर रहना
Krishan Singh
¡~¡ कोयल, बुलबुल और पपीहा ¡~¡
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
बदरिया
Dhirendra Panchal
गर्भ से बेटी की पुकार
Anamika Singh
बंदर मामा गए ससुराल
Manu Vashistha
शिव स्तुति
अभिनव मिश्र अदम्य
किताब...
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
Loading...