Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 Mar 2024 · 1 min read

कोई तो डगर मिले।

दिल के अहसास लिख रहा हूं अल्फाजों में।
इन्हें ढाला है मैने अपनी चाहत के सांचों में।।

तुम दूर हो गए हो हमसे, कोई भी गम नही।
कमबख्त रूह बसी है बस तुम्हारी यादों में।।

अपना खुदका अक्स हमको बेगाना सा लगे।
तुमने हर बार यूं दिल तोड़ा है अपने वादों से।।

सच ना है ये वशवशे तेरी मेरी मोहब्बतों के।
हरबार मेरा ही नाम आया झूठी अफवाहों में।।

कोई तो डगर मिले जो जाती हो मंजिल को।
मुझे न पता मैं कहां चल रहा हूं किन राहों पे।।

ऐ काश तुम फिर वापस आ जाते जिंदगी में।
सब गम भूल जाते हम आकर तुम्हारी बाहों में।।

ताज मोहम्मद
लखनऊ

56 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Taj Mohammad
View all
You may also like:
हमसफ़र
हमसफ़र
अखिलेश 'अखिल'
*सत्य की खोज*
*सत्य की खोज*
Dr Shweta sood
सुन कुछ मत अब सोच अपने काम में लग जा,
सुन कुछ मत अब सोच अपने काम में लग जा,
Anamika Tiwari 'annpurna '
*चंदा दल को दीजिए, काला धन साभार (व्यंग्य कुंडलिया)*
*चंदा दल को दीजिए, काला धन साभार (व्यंग्य कुंडलिया)*
Ravi Prakash
सबने हाथ भी छोड़ दिया
सबने हाथ भी छोड़ दिया
Shweta Soni
मैं नारी हूँ
मैं नारी हूँ
Sandhya Chaturvedi(काव्यसंध्या)
कोई क्या करे
कोई क्या करे
Davina Amar Thakral
शक्ति शील सौंदर्य से, मन हरते श्री राम।
शक्ति शील सौंदर्य से, मन हरते श्री राम।
आर.एस. 'प्रीतम'
ओ चाँद गगन के....
ओ चाँद गगन के....
डॉ.सीमा अग्रवाल
किसी की हिफाजत में,
किसी की हिफाजत में,
Dr. Man Mohan Krishna
रिश्तों की गहराई लिख - संदीप ठाकुर
रिश्तों की गहराई लिख - संदीप ठाकुर
Sandeep Thakur
हम
हम
Dr. Kishan tandon kranti
*हे!शारदे*
*हे!शारदे*
Dushyant Kumar
I Fall In Love
I Fall In Love
Vedha Singh
🙏😊🙏
🙏😊🙏
Neelam Sharma
आप और हम जीवन के सच....…...एक कल्पना विचार
आप और हम जीवन के सच....…...एक कल्पना विचार
Neeraj Agarwal
सवाल~
सवाल~
दिनेश एल० "जैहिंद"
तुम
तुम
Sangeeta Beniwal
" महखना "
Pushpraj Anant
चंद सिक्के उम्मीदों के डाल गुल्लक में
चंद सिक्के उम्मीदों के डाल गुल्लक में
सिद्धार्थ गोरखपुरी
थोड़ा प्रयास कर समस्या का समाधान स्वयं ढ़ुंढ़ लेने से समस्या
थोड़ा प्रयास कर समस्या का समाधान स्वयं ढ़ुंढ़ लेने से समस्या
Paras Nath Jha
हमारी आखिरी उम्मीद हम खुद है,
हमारी आखिरी उम्मीद हम खुद है,
शेखर सिंह
आप वक्त को थोड़ा वक्त दीजिए वह आपका वक्त बदल देगा ।।
आप वक्त को थोड़ा वक्त दीजिए वह आपका वक्त बदल देगा ।।
Lokesh Sharma
मनोहन
मनोहन
Seema gupta,Alwar
#आप_भी_बनिए_मददगार
#आप_भी_बनिए_मददगार
*प्रणय प्रभात*
सुनो रे सुनो तुम यह मतदाताओं
सुनो रे सुनो तुम यह मतदाताओं
gurudeenverma198
उफ़ ये बेटियाँ
उफ़ ये बेटियाँ
SHAMA PARVEEN
3062.*पूर्णिका*
3062.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
कभी कभी अच्छा लिखना ही,
कभी कभी अच्छा लिखना ही,
नेताम आर सी
हिकारत जिल्लत
हिकारत जिल्लत
DR ARUN KUMAR SHASTRI
Loading...