Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 Nov 2021 · 1 min read

की है निगाहे – नाज़ ने दिल पे हया की चोट

की है निगाहे – नाज़ ने दिल पे हया की चोट
ये इब्तदा की चोट है, या इन्तेहा की चोट

वो इस अदा से कर गये इज़हारे – दिल लगी
दिल पाश-पाश कर गयी लफ़्ज़े वफ़ा की चोट

महफ़िल में उनके आते ही इक नूर छा गया
लेकिन दिये को खा गयी हुस्ने ज़िया की चोट

हर लम्हा दर्दे – दिल को उन्हीं की है जुस्तजू
देके गये हैं दिल पे जो नाज़ो – अदा की चोट

सहने – चमन में कह दो न आँचल उड़ाएं वो
मजरूह कर रही है गुलों को हवा की चोट

मेरी लहद से जब भी गुज़रना , दबा के पाँव
बे – चैन कर न दे मुझे आवाज़े – पा की चोट

होंगे तुम्हारे, शह्र में आसी बहुत हरीफ़
करते हो अपने शेर से तुम जो बला को चोट
__________●___________
सरफ़राज़ अहमद आसी

208 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
दो पंक्तियां
दो पंक्तियां
Vivek saswat Shukla
नींद आज नाराज हो गई,
नींद आज नाराज हो गई,
Vindhya Prakash Mishra
जीवन
जीवन
Mangilal 713
"हार्दिक स्वागत"
Dr. Kishan tandon kranti
इम्तिहान
इम्तिहान
विनोद वर्मा ‘दुर्गेश’
राजकुमारी
राजकुमारी
Johnny Ahmed 'क़ैस'
सांवली हो इसलिए सुंदर हो
सांवली हो इसलिए सुंदर हो
Aman Kumar Holy
बदलते वख़्त के मिज़ाज़
बदलते वख़्त के मिज़ाज़
Atul "Krishn"
साधु की दो बातें
साधु की दो बातें
Dr. Pradeep Kumar Sharma
Give it time. The reality is we all want to see results inst
Give it time. The reality is we all want to see results inst
पूर्वार्थ
शिव स्तुति
शिव स्तुति
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
भारत ने रचा इतिहास।
भारत ने रचा इतिहास।
Anil Mishra Prahari
जो आपका गुस्सा सहन करके भी आपका ही साथ दें,
जो आपका गुस्सा सहन करके भी आपका ही साथ दें,
Ranjeet kumar patre
*पिता*...
*पिता*...
Harminder Kaur
न्याय यात्रा
न्याय यात्रा
Bodhisatva kastooriya
मसला सिर्फ जुबान का हैं,
मसला सिर्फ जुबान का हैं,
ओसमणी साहू 'ओश'
2487.पूर्णिका
2487.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
गुरु पूर्णिमा आ वर्तमान विद्यालय निरीक्षण आदेश।
गुरु पूर्णिमा आ वर्तमान विद्यालय निरीक्षण आदेश।
Acharya Rama Nand Mandal
*लक्ष्मण-रेखा (कुंडलिया)*
*लक्ष्मण-रेखा (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
मर्यादापुरुषोतम श्री राम
मर्यादापुरुषोतम श्री राम
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
■ क्यों करते हैं टाइम खोटा, आपस में मौसेर्रे भाई??
■ क्यों करते हैं टाइम खोटा, आपस में मौसेर्रे भाई??
*प्रणय प्रभात*
आज़ के पिता
आज़ के पिता
Sonam Puneet Dubey
बचपन का मौसम
बचपन का मौसम
Meera Thakur
हिन्दी दोहे- चांदी
हिन्दी दोहे- चांदी
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
लम्हे
लम्हे
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
*राज दिल के वो हम से छिपाते रहे*
*राज दिल के वो हम से छिपाते रहे*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
आंख मेरी ही
आंख मेरी ही
Dr fauzia Naseem shad
बूँद-बूँद से बनता सागर,
बूँद-बूँद से बनता सागर,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
*** हम दो राही....!!! ***
*** हम दो राही....!!! ***
VEDANTA PATEL
दिल के दरवाजे भेड़ कर देखो - संदीप ठाकुर
दिल के दरवाजे भेड़ कर देखो - संदीप ठाकुर
Sandeep Thakur
Loading...