Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Mar 18, 2019 · 1 min read

कविता

एक इशारा……

हम नही भूलें है अब तक आपके व्यवहार को,
जानते है खूब हम तो आपके परिवार को,

आँख को सपने दिखाए प्यास को पानी,
इस तरह करते रहे, हर रोज़ मनमानी,

शब्द टपकाते रहे दो होंठ से आभार को,
हम नही भूलें है अब तक आपके व्यवहार को,

लाज को घूँघट दिखाया पेट को थाली,
आप तो भरते गये पर हम हुए ख़ाली,

हम भी आखिर कब तलक सहते अत्याचार को,
हम नही भूलें है अब तक आपके व्यवहार को,

पाँव को बाधा दिखाई हाथ को डण्डे,
दे दिए बैनर कभी तो दे दिए झण्डे,

हम तो बस मोहरें ही रह गये जीत और प्रचार को,
हम नही भूलें है अब तक आपके व्यवहार को।

141 Views
You may also like:
✍️निज़ाम✍️
'अशांत' शेखर
मुखौटा
संदीप सागर (चिराग)
'पूरब की लाल किरन'
Godambari Negi
The Survior
श्याम सिंह बिष्ट
मौत बाटे अटल
आकाश महेशपुरी
सरकारी नौकर
Dr Meenu Poonia
*राखी (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
नव भारत
पाण्डेय चिदानन्द
✍️पैरो तले ज़मी✍️
'अशांत' शेखर
धार्मिक उन्माद
Rakesh Pathak Kathara
गुनहगार बन गए है।
Taj Mohammad
हिंदी दोहा-टोपी
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
सीधे सीधे कहते हैं।
Taj Mohammad
**अशुद्ध अछूत - नारी **
DR ARUN KUMAR SHASTRI
Love never be painful
Buddha Prakash
जावेद कक्षा छः का छात्र कला के बल पर कई...
Shankar J aanjna
कुछ नहीं इंसान को
Dr fauzia Naseem shad
कर लो कोशिशें।
Taj Mohammad
मिलेंगे लोग कुछ ऐसे गले हॅंसकर लगाते हैं।
सत्य कुमार प्रेमी
अधूरी सी प्रेम कहानी
Seema 'Tu haina'
चौंक पड़ती हैं सदियाॅं..
Rashmi Sanjay
✍️इश्तिराक✍️
'अशांत' शेखर
In my Life.
Taj Mohammad
नवजात बहू (लघुकथा)
दुष्यन्त 'बाबा'
अब कैसे कहें तुमसे कहने को हमारे हैं।
सत्य कुमार प्रेमी
Corporate Mantra of Politics
AJAY AMITABH SUMAN
ह्रदय की व्यथा
Nitesh Kumar Srivastava
समय और रिश्ते।
Anamika Singh
- मेरा प्रेम कागज,कलम व पुस्तक -
bharat gehlot
$$सत्संगेन विवेक: जाग्रत: भवति$$
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Loading...