Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
24 Oct 2016 · 1 min read

कविता

नारी
——
जैसे होठों पर जिसके लाली लगी हो ,
माथे पर जिसके लाल बिन्दी सजी हो ।
जैसे ईंगुर से माँग जिसकी भरी हो ,
जैस पैरों में जिसके महावर लगी हो ।
जैसे चिरयौवना कोई सुन्दरी हो ,
जैसे दुल्हन की तरह कोई सजी हो ।
जैसे अपने पिया की प्यारी वही हो
ऐसी चिरयौवना के उपर पर्दा पड़ा हो
उसके ऊपर धूल मिट्टी जमा हो
रूप उसका नहीं दिखाई दे रहा हो
स्वर करुणा का न किसी को सुनाई दे रहा हो
जो सभी के अत्याचार सह रही हो
जो सभी से अपनी व्यथा सी कह रही हो
अपनों के द्वारा जो हो उपेक्षित
गैरों के द्वारा जो हो परीक्षित
बेसहारा हो जो सर्व समर्थ होकर भी
जिन्दा हो जो असमर्थ होकर भी
जो दिव्य गुणों को किए हो समाहित
जीतकर भी जो हो गयी हो पराजित
जिसके कारण ही सारा संसार चलता
जिसके कारण असहाय मानव भी पलता
जो असम्भव को भी कर देती सम्भव
जिसके बिना नहीं जी सकता मानव
जो देती मानव को भी कुशलता
प्रत्येक बस्तु की जो करती सुलभता
जिसके बिना न राष्ट्र कर सकता उन्नति
जिसके बिना सब करते अपनी क्षति
ऐसी नारी का करना चाहिए सम्मान
उसकी हर बात का रखना चाहिए मान ।।
:- डाँ तेज स्वरूप भारद्वाज -:

Language: Hindi
477 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
घनघोर इस अंधेरे में, वो उजाला कितना सफल होगा,
घनघोर इस अंधेरे में, वो उजाला कितना सफल होगा,
Sonam Pundir
प्रार्थना (मधुमालती छन्द)
प्रार्थना (मधुमालती छन्द)
नाथ सोनांचली
लाल और उतरा हुआ आधा मुंह लेकर आए है ,( करवा चौथ विशेष )
लाल और उतरा हुआ आधा मुंह लेकर आए है ,( करवा चौथ विशेष )
ओनिका सेतिया 'अनु '
రామయ్య మా రామయ్య
రామయ్య మా రామయ్య
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
*दो हास्य कुंडलियाँ*
*दो हास्य कुंडलियाँ*
Ravi Prakash
चूल्हे की रोटी
चूल्हे की रोटी
प्रीतम श्रावस्तवी
किसी की सेवा या सहयोग
किसी की सेवा या सहयोग
*Author प्रणय प्रभात*
गरीबी की उन दिनों में ,
गरीबी की उन दिनों में ,
Yogendra Chaturwedi
बरसात और बाढ़
बरसात और बाढ़
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
बुलन्द होंसला रखने वाले लोग, कभी डरा नहीं करते
बुलन्द होंसला रखने वाले लोग, कभी डरा नहीं करते
The_dk_poetry
उम्र का लिहाज
उम्र का लिहाज
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
मास्टर जी: एक अनकही प्रेमकथा (प्रतिनिधि कहानी)
मास्टर जी: एक अनकही प्रेमकथा (प्रतिनिधि कहानी)
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
औरत का जीवन
औरत का जीवन
Dheerja Sharma
सोशल मीडिया, हिंदी साहित्य और हाशिया विमर्श / MUSAFIR BAITHA
सोशल मीडिया, हिंदी साहित्य और हाशिया विमर्श / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
2444.पूर्णिका
2444.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
!! दर्द भरी ख़बरें !!
!! दर्द भरी ख़बरें !!
Chunnu Lal Gupta
"फ़िर से तुम्हारी याद आई"
Lohit Tamta
प्रणय 9
प्रणय 9
Ankita Patel
✨🌹|| संत रविदास (रैदास) ||🌹✨
✨🌹|| संत रविदास (रैदास) ||🌹✨
Pravesh Shinde
सुख -दुख
सुख -दुख
Acharya Rama Nand Mandal
कामयाबी
कामयाबी
DR ARUN KUMAR SHASTRI
मन तेरा भी करता होगा
मन तेरा भी करता होगा
Ram Krishan Rastogi
रक्तदान
रक्तदान
Dr. Pradeep Kumar Sharma
नूतन वर्ष
नूतन वर्ष
Madhavi Srivastava
पहले प्यार का एहसास
पहले प्यार का एहसास
Surinder blackpen
शब्द
शब्द
Ajay Mishra
मैं जा रहा हूँ साथ तेरा छोड़कर
मैं जा रहा हूँ साथ तेरा छोड़कर
gurudeenverma198
नेता के बोल
नेता के बोल
Aman Sinha
बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर जी की १३२ वीं जयंती
बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर जी की १३२ वीं जयंती
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
"करिए ऐसे वार"
Dr. Kishan tandon kranti
Loading...