Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 May 2023 · 1 min read

कल कल करती बेकल नदियां

कल कल करती बेकल नदियां
किनारों से मेल ना करती नदियां
अपने अल्हड़पन बहती नदियां
अपने प्रारंभ और प्रारब्ध को जाने नदियां
कल कल करती बेकल नदियां
जीवन मंत्र देती नदियां
निरंतर आगे बढने की सूचक नदियां
मोहपाश तोड़ अनन्त में जा मिले नदियां
समय की धारा के साथ बह जाए नदियां
सुशील मिश्रा (क्षितिज राज)

1 Like · 352 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
View all
You may also like:
ग़ुमनाम जिंदगी
ग़ुमनाम जिंदगी
Awadhesh Kumar Singh
मरना बड़ी बात नही जीना बड़ी बात है....
मरना बड़ी बात नही जीना बड़ी बात है....
_सुलेखा.
बाबूजी।
बाबूजी।
Anil Mishra Prahari
संकल्प
संकल्प
Naushaba Suriya
Touch the Earth,
Touch the Earth,
Dhriti Mishra
साड़ी हर नारी की शोभा
साड़ी हर नारी की शोभा
ओनिका सेतिया 'अनु '
घर बाहर जूझती महिलाएं(A poem for all working women)
घर बाहर जूझती महिलाएं(A poem for all working women)
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
******** प्रेम भरे मुक्तक *********
******** प्रेम भरे मुक्तक *********
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
नाचणिया स नाच रया, नचावै नटवर नाथ ।
नाचणिया स नाच रया, नचावै नटवर नाथ ।
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
एक छोर नेता खड़ा,
एक छोर नेता खड़ा,
Sanjay ' शून्य'
THE SUN
THE SUN
SURYA PRAKASH SHARMA
भूल
भूल
Neeraj Agarwal
*
*"घंटी"*
Shashi kala vyas
दुनिया की ज़िंदगी भी
दुनिया की ज़िंदगी भी
shabina. Naaz
उसको ख़ुद से ही ये गिला होगा ।
उसको ख़ुद से ही ये गिला होगा ।
Neelam Sharma
kab miloge piya - Desert Fellow Rakesh Yadav ( कब मिलोगे पिया )
kab miloge piya - Desert Fellow Rakesh Yadav ( कब मिलोगे पिया )
Desert fellow Rakesh
"विद्या"
Dr. Kishan tandon kranti
*शादी को जब हो गए, पूरे वर्ष पचास*(हास्य कुंडलिया )
*शादी को जब हो गए, पूरे वर्ष पचास*(हास्य कुंडलिया )
Ravi Prakash
मातृ दिवस
मातृ दिवस
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
बहुत कुछ पढ़ लिया तो क्या ऋचाएं पढ़ के देखो।
बहुत कुछ पढ़ लिया तो क्या ऋचाएं पढ़ के देखो।
सत्य कुमार प्रेमी
"" *सपनों की उड़ान* ""
सुनीलानंद महंत
ख़्याल रखें
ख़्याल रखें
Dr fauzia Naseem shad
■ आज का चिंतन
■ आज का चिंतन
*Author प्रणय प्रभात*
" अंधेरी रातें "
Yogendra Chaturwedi
कहानी हर दिल की
कहानी हर दिल की
Surinder blackpen
Where is love?
Where is love?
Otteri Selvakumar
बरसात के दिन
बरसात के दिन
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
रेतीले तपते गर्म रास्ते
रेतीले तपते गर्म रास्ते
Atul "Krishn"
गौरैया
गौरैया
Dr.Pratibha Prakash
दर जो आली-मकाम होता है
दर जो आली-मकाम होता है
Anis Shah
Loading...