Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
22 Feb 2023 · 1 min read

“एक नज़र”

“एक नज़र”
धीरज जो खोता है,
अपनी नाव डुबोता है।
आम कहाँ से आएगा,
जब बबूल ही बोता है।
विरले ही लोग होते यहॉं,
जो आँसू में कलम डुबोता है।

– डॉ. किशन टण्डन क्रान्ति

11 Likes · 4 Comments · 475 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr. Kishan tandon kranti
View all
You may also like:
#तेवरी
#तेवरी
*प्रणय प्रभात*
शिव-स्वरूप है मंगलकारी
शिव-स्वरूप है मंगलकारी
कवि रमेशराज
LOVE-LORN !
LOVE-LORN !
Ahtesham Ahmad
चाहते नहीं अब जिंदगी को, करना दुःखी नहीं हरगिज
चाहते नहीं अब जिंदगी को, करना दुःखी नहीं हरगिज
gurudeenverma198
*गलतफहमी*
*गलतफहमी*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
किसी बच्चे की हँसी देखकर
किसी बच्चे की हँसी देखकर
ruby kumari
बेपरवाह
बेपरवाह
Omee Bhargava
कहानी-
कहानी- "हाजरा का बुर्क़ा ढीला है"
Dr Tabassum Jahan
SC/ST HELPLINE NUMBER 14566
SC/ST HELPLINE NUMBER 14566
ऐ./सी.राकेश देवडे़ बिरसावादी
पुकार
पुकार
Manu Vashistha
जाति  धर्म  के नाम  पर, चुनने होगे  शूल ।
जाति धर्म के नाम पर, चुनने होगे शूल ।
sushil sarna
निगाहों से पूछो
निगाहों से पूछो
Surinder blackpen
*गली-गली में घूम रहे हैं, यह कुत्ते आवारा (गीत)*
*गली-गली में घूम रहे हैं, यह कुत्ते आवारा (गीत)*
Ravi Prakash
//सुविचार//
//सुविचार//
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
"देखो"
Dr. Kishan tandon kranti
आई दिवाली कोरोना में
आई दिवाली कोरोना में
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
अधिकार जताना
अधिकार जताना
Dr fauzia Naseem shad
हिंदी दोहा- अर्चना
हिंदी दोहा- अर्चना
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
अधिक हर्ष और अधिक उन्नति के बाद ही अधिक दुख और पतन की बारी आ
अधिक हर्ष और अधिक उन्नति के बाद ही अधिक दुख और पतन की बारी आ
पूर्वार्थ
हुआ क्या है
हुआ क्या है
Neelam Sharma
जीवन का मकसद क्या है?
जीवन का मकसद क्या है?
Buddha Prakash
Jay prakash
Jay prakash
Jay Dewangan
तपिश धूप की तो महज पल भर की मुश्किल है साहब
तपिश धूप की तो महज पल भर की मुश्किल है साहब
Yogini kajol Pathak
मतदान
मतदान
Dr Archana Gupta
A GIRL WITH BEAUTY
A GIRL WITH BEAUTY
SURYA PRAKASH SHARMA
प्रेम निभाना
प्रेम निभाना
लक्ष्मी सिंह
गांव का दृश्य
गांव का दृश्य
Mukesh Kumar Sonkar
जन्नत
जन्नत
जय लगन कुमार हैप्पी
GOD BLESS EVERYONE
GOD BLESS EVERYONE
Baldev Chauhan
18- ऐ भारत में रहने वालों
18- ऐ भारत में रहने वालों
Ajay Kumar Vimal
Loading...