Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
22 Sep 2023 · 1 min read

” एकता “

” एकता ”
========
कोनो पातर अछि कोनो मोट
कोनो नमहर अछि कोनो छोट
कियो स्वेत अछि कियो श्यामल
सब भिन्य तइयो अपना मे बांहल ! @ परिमल

1 Like · 250 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
ग़ज़ल
ग़ज़ल
आर.एस. 'प्रीतम'
कुछ नही हो...
कुछ नही हो...
Sapna K S
"बेखुदी "
Pushpraj Anant
"फिर"
Dr. Kishan tandon kranti
चलो क्षण भर भुला जग को, हरी इस घास में बैठें।
चलो क्षण भर भुला जग को, हरी इस घास में बैठें।
डॉ.सीमा अग्रवाल
कुछ तो उन्होंने भी कहा होगा
कुछ तो उन्होंने भी कहा होगा
पूर्वार्थ
#ग़ज़ल-
#ग़ज़ल-
*Author प्रणय प्रभात*
संत साईं बाबा
संत साईं बाबा
Pravesh Shinde
💐प्रेम कौतुक-291💐
💐प्रेम कौतुक-291💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
भारत का फौजी जवान
भारत का फौजी जवान
Satish Srijan
हवा तो थी इधर नहीं आई,
हवा तो थी इधर नहीं आई,
Manoj Mahato
रामबाण
रामबाण
Pratibha Pandey
अब कहां वो प्यार की रानाइयां।
अब कहां वो प्यार की रानाइयां।
सत्य कुमार प्रेमी
कदम रोक लो, लड़खड़ाने लगे यदि।
कदम रोक लो, लड़खड़ाने लगे यदि।
Sanjay ' शून्य'
शब्द शब्द उपकार तेरा ,शब्द बिना सब सून
शब्द शब्द उपकार तेरा ,शब्द बिना सब सून
Namrata Sona
जाति का बंधन
जाति का बंधन
Shekhar Chandra Mitra
वक्त के लम्हों ने रुलाया है।
वक्त के लम्हों ने रुलाया है।
Taj Mohammad
तुम कहते हो की हर मर्द को अपनी पसंद की औरत को खोना ही पड़ता है चाहे तीनों लोक के कृष्ण ही क्यों ना हो
तुम कहते हो की हर मर्द को अपनी पसंद की औरत को खोना ही पड़ता है चाहे तीनों लोक के कृष्ण ही क्यों ना हो
$úDhÁ MãÚ₹Yá
“ धार्मिक असहिष्णुता ”
“ धार्मिक असहिष्णुता ”
DrLakshman Jha Parimal
मोहब्बत आज भी अधूरी है….!!!!
मोहब्बत आज भी अधूरी है….!!!!
Jyoti Khari
वृंदावन की कुंज गलियां
वृंदावन की कुंज गलियां
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
✍️ D. K 27 june 2023
✍️ D. K 27 june 2023
The_dk_poetry
सत्य की खोज
सत्य की खोज
Mamta Rani
ऐसा कभी क्या किया है किसी ने
ऐसा कभी क्या किया है किसी ने
gurudeenverma198
अगर लोग आपको rude समझते हैं तो समझने दें
अगर लोग आपको rude समझते हैं तो समझने दें
ruby kumari
Chubhti hai bate es jamane ki
Chubhti hai bate es jamane ki
Sadhna Ojha
डॉ. ध्रुव की दृष्टि में कविता का अमृतस्वरूप
डॉ. ध्रुव की दृष्टि में कविता का अमृतस्वरूप
कवि रमेशराज
तुम जो आसमान से
तुम जो आसमान से
SHAMA PARVEEN
सम्मान
सम्मान
Dr. Pradeep Kumar Sharma
*चुनावी कुंडलिया*
*चुनावी कुंडलिया*
Ravi Prakash
Loading...