Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Jun 2023 · 1 min read

उसे मैं भूल जाऊंगा, ये मैं होने नहीं दूंगा।

ग़ज़ल

1222/1222/1222/1222
उसे मैं भूल जाऊंगा, ये मैं होने नहीं दूंगा।
वो मुझको भूल जाएगा, ये मैं होने नहीं दूंगा।1

तेरा ही हम सफ़र बनकर, मुझे मंजिल को पाना है।
तू मंज़िल भूलकर बैठा, ये मैं होनें नहीं दूंगा।2

हमें वो दोस्त कहता है, हमीं पर वार करता है ।
पड़ोसी जैसा है अच्छा, ये मैं होने नहीं दूंगा।3

सभी कदमों तले उसके, चलेगी उसकी मन मर्जी,
नशा उस पर है सत्ता का, ये मैं होने नहीं दूंगा।4

वो जिसके प्यार में प्रेमी, हुए थे एक दिन पागल,
करेगा एक दिन धोखा, ये मैं होने नहीं दूंगा।

……….✍️ सत्य कुमार प्रेमी

1 Like · 174 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
*भगवान गणेश जी के जन्म की कथा*
*भगवान गणेश जी के जन्म की कथा*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
मुझे तो मेरी फितरत पे नाज है
मुझे तो मेरी फितरत पे नाज है
नेताम आर सी
लड्डू बद्री के ब्याह का
लड्डू बद्री के ब्याह का
Kanchan Khanna
*माटी की संतान- किसान*
*माटी की संतान- किसान*
Harminder Kaur
अश्रु की भाषा
अश्रु की भाषा
Shyam Sundar Subramanian
- ଓଟେରି ସେଲଭା କୁମାର
- ଓଟେରି ସେଲଭା କୁମାର
Otteri Selvakumar
दोस्ती
दोस्ती
Mukesh Kumar Sonkar
So many of us are currently going through huge energetic shi
So many of us are currently going through huge energetic shi
पूर्वार्थ
क्या अब भी किसी पे, इतना बिखरती हों क्या ?
क्या अब भी किसी पे, इतना बिखरती हों क्या ?
The_dk_poetry
बसंत पंचमी
बसंत पंचमी
Neeraj Agarwal
■ जानवर बनने का शौक़ और अंधी होड़ जगाता सोशल मीडिया।
■ जानवर बनने का शौक़ और अंधी होड़ जगाता सोशल मीडिया।
*Author प्रणय प्रभात*
कभी न दिखावे का तुम दान करना
कभी न दिखावे का तुम दान करना
Dr fauzia Naseem shad
विपरीत परिस्थितियों में भी तुरंत फैसला लेने की क्षमता ही सफल
विपरीत परिस्थितियों में भी तुरंत फैसला लेने की क्षमता ही सफल
Paras Nath Jha
सदा मन की ही की तुमने मेरी मर्ज़ी पढ़ी होती,
सदा मन की ही की तुमने मेरी मर्ज़ी पढ़ी होती,
अनिल "आदर्श"
बहके जो कोई तो संभाल लेना
बहके जो कोई तो संभाल लेना
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
World Blood Donar's Day
World Blood Donar's Day
Tushar Jagawat
बोलो_क्या_तुम_बोल_रहे_हो?
बोलो_क्या_तुम_बोल_रहे_हो?
संजीव शुक्ल 'सचिन'
शकुनियों ने फैलाया अफवाहों का धुंध
शकुनियों ने फैलाया अफवाहों का धुंध
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
3313.⚘ *पूर्णिका* ⚘
3313.⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
शक्ति शील सौंदर्य से, मन हरते श्री राम।
शक्ति शील सौंदर्य से, मन हरते श्री राम।
आर.एस. 'प्रीतम'
माज़ी में जनाब ग़ालिब नज़र आएगा
माज़ी में जनाब ग़ालिब नज़र आएगा
Atul "Krishn"
"रंग"
Dr. Kishan tandon kranti
गुजार दिया जो वक्त
गुजार दिया जो वक्त
Sangeeta Beniwal
*सॉंसों में जिसके बसे, दशरथनंदन राम (पॉंच दोहे)*
*सॉंसों में जिसके बसे, दशरथनंदन राम (पॉंच दोहे)*
Ravi Prakash
* हो जाता ओझल *
* हो जाता ओझल *
surenderpal vaidya
माँ
माँ
Dr. Pradeep Kumar Sharma
सूर्य देव की अरुणिम आभा से दिव्य आलोकित है!
सूर्य देव की अरुणिम आभा से दिव्य आलोकित है!
Bodhisatva kastooriya
" जीवन है गतिमान "
भगवती प्रसाद व्यास " नीरद "
आँखों में अब बस तस्वीरें मुस्कुराये।
आँखों में अब बस तस्वीरें मुस्कुराये।
Manisha Manjari
मुस्कुराहट
मुस्कुराहट
Naushaba Suriya
Loading...