Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 Apr 2024 · 1 min read

उम्र तो गुजर जाती है….. मगर साहेब

उम्र तो गुजर जाती है….. मगर साहेब
जिगर ज़िन्दा रखना चाहिये …….ShabinaZ

66 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from shabina. Naaz
View all
You may also like:
Rainbow on my window!
Rainbow on my window!
Rachana
मित्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
मित्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
Dr Archana Gupta
गांव
गांव
Bodhisatva kastooriya
उनका शौक़ हैं मोहब्बत के अल्फ़ाज़ पढ़ना !
उनका शौक़ हैं मोहब्बत के अल्फ़ाज़ पढ़ना !
शेखर सिंह
बेफिक्र तेरे पहलू पे उतर आया हूं मैं, अब तेरी मर्जी....
बेफिक्र तेरे पहलू पे उतर आया हूं मैं, अब तेरी मर्जी....
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
कुछ तो उन्होंने भी कहा होगा
कुछ तो उन्होंने भी कहा होगा
पूर्वार्थ
O CLOUD !
O CLOUD !
SURYA PRAKASH SHARMA
चक्रव्यूह की राजनीति
चक्रव्यूह की राजनीति
Dr Parveen Thakur
सुर्ख बिंदी
सुर्ख बिंदी
Awadhesh Singh
*संपूर्ण रामचरितमानस का पाठ: दैनिक समीक्षा* दिनांक 5 अप्रैल
*संपूर्ण रामचरितमानस का पाठ: दैनिक समीक्षा* दिनांक 5 अप्रैल
Ravi Prakash
कोई भी मजबूरी मुझे लक्ष्य से भटकाने में समर्थ नहीं है। अपने
कोई भी मजबूरी मुझे लक्ष्य से भटकाने में समर्थ नहीं है। अपने
Ramnath Sahu
अंतरद्वंद
अंतरद्वंद
Happy sunshine Soni
नव-निवेदन
नव-निवेदन
Jeewan Singh 'जीवनसवारो'
काव्य में सत्य, शिव और सौंदर्य
काव्य में सत्य, शिव और सौंदर्य
कवि रमेशराज
अगर
अगर
Shweta Soni
सच और झूँठ
सच और झूँठ
विजय कुमार अग्रवाल
पिछले महीने तक
पिछले महीने तक
*प्रणय प्रभात*
ఓ యువత మేలుకో..
ఓ యువత మేలుకో..
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
विद्याधन
विद्याधन
Dr. Pradeep Kumar Sharma
🙏❌जानवरों को मत खाओ !❌🙏
🙏❌जानवरों को मत खाओ !❌🙏
Srishty Bansal
तुम्हे वक्त बदलना है,
तुम्हे वक्त बदलना है,
Neelam
“ सर्पराज ” सूबेदार छुछुंदर से नाराज “( व्यंगयात्मक अभिव्यक्ति )
“ सर्पराज ” सूबेदार छुछुंदर से नाराज “( व्यंगयात्मक अभिव्यक्ति )
DrLakshman Jha Parimal
दिल पर दस्तक
दिल पर दस्तक
Surinder blackpen
रहे इहाँ जब छोटकी रेल
रहे इहाँ जब छोटकी रेल
आकाश महेशपुरी
तुम्ही बताओ आज सभासद है ये प्रशन महान
तुम्ही बताओ आज सभासद है ये प्रशन महान
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
*माँ सरस्वती जी*
*माँ सरस्वती जी*
Rituraj shivem verma
रंग भरी पिचकारियाँ,
रंग भरी पिचकारियाँ,
sushil sarna
रेशम की डोरी का
रेशम की डोरी का
Dr fauzia Naseem shad
आँखें उदास हैं - बस समय के पूर्णाअस्त की राह ही देखतीं हैं
आँखें उदास हैं - बस समय के पूर्णाअस्त की राह ही देखतीं हैं
Atul "Krishn"
परिवार
परिवार
नवीन जोशी 'नवल'
Loading...