Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Feb 2023 · 1 min read

💐अज्ञात के प्रति-96💐

उनसे अलग कोई बात नहीं की,
उनसे अलग कहीं दिल नहीं लगाया।।

©®अभिषेक: पाराशरः ‘आनन्द’

Language: Hindi
36 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
शिव अराधना
शिव अराधना
नवीन जोशी 'नवल'
बचपन
बचपन
लक्ष्मी सिंह
कवित्त छंद ( परशुराम जयंती )
कवित्त छंद ( परशुराम जयंती )
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
*खामोशी अब लब्ज़ चाहती है*
*खामोशी अब लब्ज़ चाहती है*
Shashi kala vyas
"जरा सोचिए"
Dr. Kishan tandon kranti
मुझे प्रीत है वतन से,
मुझे प्रीत है वतन से,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
Colours of heart,
Colours of heart,
DrChandan Medatwal
2319.पूर्णिका
2319.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
ਮੈਂ ਕਿਹਾ ਸੀ ਉਹਨੂੰ
ਮੈਂ ਕਿਹਾ ਸੀ ਉਹਨੂੰ
Surinder blackpen
उसे कमज़ोर नहीं कह सकते
उसे कमज़ोर नहीं कह सकते
Dr fauzia Naseem shad
भरे मन भाव अति पावन....
भरे मन भाव अति पावन....
डॉ.सीमा अग्रवाल
चांद निकला है तुम्हे देखने के लिए
चांद निकला है तुम्हे देखने के लिए
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
भूल गए हम वो दिन , खुशियाँ साथ मानते थे !
भूल गए हम वो दिन , खुशियाँ साथ मानते थे !
DrLakshman Jha Parimal
उदास नहीं हूं
उदास नहीं हूं
shabina. Naaz
ज्योतिष विज्ञान एव पुनर्जन्म धर्म के परिपेक्ष्य में ज्योतिषीय लेख
ज्योतिष विज्ञान एव पुनर्जन्म धर्म के परिपेक्ष्य में ज्योतिषीय लेख
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
Sometimes he looks me
Sometimes he looks me
Sakshi Tripathi
सार छंद / छन्न पकैया गीत
सार छंद / छन्न पकैया गीत
Subhash Singhai
पत्नी
पत्नी
Acharya Rama Nand Mandal
लुकन-छिपी
लुकन-छिपी
Dr. Rajiv
जान का नया बवाल
जान का नया बवाल
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
■ विनम्र आग्रह...
■ विनम्र आग्रह...
*Author प्रणय प्रभात*
*गर्मी में शादी (बाल कविता)*
*गर्मी में शादी (बाल कविता)*
Ravi Prakash
मेरी सफर शायरी
मेरी सफर शायरी
Ms.Ankit Halke jha
"तब्दीली"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
शेयर मार्केट में पैसा कैसे डूबता है ?
शेयर मार्केट में पैसा कैसे डूबता है ?
Rakesh Bahanwal
तुम ढाल हो मेरी
तुम ढाल हो मेरी
गुप्तरत्न
जो लिखा नहीं.....लिखने की कोशिश में हूँ...
जो लिखा नहीं.....लिखने की कोशिश में हूँ...
Vishal babu (vishu)
... और मैं भाग गया
... और मैं भाग गया
नन्दलाल सिंह 'कांतिपति'
पिछली सदी का शख्स
पिछली सदी का शख्स
Satish Srijan
Loading...