Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Aug 2023 · 1 min read

*इश्क़ न हो किसी को*

मैं तो कहता हूँ कि
ये इश्क़ न हो किसी को
ये कहानियों में अच्छा लगता है
कभी हो न ये किसी को

गर हो गया ये इश्क़ तो
उम्रभर दर्द देगा तुझे, शिव
कहेगा ये ज़माना पागल तुम्हें
तू रोक न पाएगा किसी को

कितनों को लूटा है इसने
छोड़ा नहीं है किसी को
जिसने भी इसको अपनाया
हंसाया नहीं है किसी को

किसी को बेवफ़ाई मिली
किसी को रुसवाई मिली
बरबाद कर दिया है सबको
बसाया नहीं है किसी को

तड़पाया है दिलों को
रुलाया है किसी को
सताया है मासूमों को
फँसाया है किसी को

समझा रहा है ये शिव
मत पड़ तू भी इश्क़ में
कौन जाने तेरा भी अंजाम हो यही
पता नहीं है किसी को

जब जानते हो तुम
कोई नहीं बचा पाएगा अब तुम्हें
फ़सकर रूप के जाल में
क्यों आवाज़ देते हो किसी को

है सामने तेरे न जाने
कितने ही उदाहरण
फिर भी इश्क़ में पड़ना चाहते हो
क्यों होश नहीं है किसी को।

4 Likes · 2327 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
हाई रे मेरी तोंद (हास्य कविता)
हाई रे मेरी तोंद (हास्य कविता)
Dr. Kishan Karigar
#गौरवमयी_प्रसंग
#गौरवमयी_प्रसंग
*Author प्रणय प्रभात*
विधाता छंद
विधाता छंद
डॉ.सीमा अग्रवाल
Dr Arun Kumar Shastri
Dr Arun Kumar Shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
*रामपुर की गाँधी समाधि (तीन कुंडलियाँ)*
*रामपुर की गाँधी समाधि (तीन कुंडलियाँ)*
Ravi Prakash
एक कुआ पुराना सा.. जिसको बने बीत गया जमाना सा..
एक कुआ पुराना सा.. जिसको बने बीत गया जमाना सा..
Shubham Pandey (S P)
गम इतने दिए जिंदगी ने
गम इतने दिए जिंदगी ने
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
यादों के तटबंध ( समीक्षा)
यादों के तटबंध ( समीक्षा)
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
मैं तो अंहकार आँव
मैं तो अंहकार आँव
Lakhan Yadav
कहने को आज है एक मई,
कहने को आज है एक मई,
Satish Srijan
!! हे उमां सुनो !!
!! हे उमां सुनो !!
Chunnu Lal Gupta
खुशियों का बीमा (व्यंग्य कहानी)
खुशियों का बीमा (व्यंग्य कहानी)
Dr. Pradeep Kumar Sharma
माईया दौड़ी आए
माईया दौड़ी आए
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
"ईद-मिलन" हास्य रचना
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
*अपना भारत*
*अपना भारत*
मनोज कर्ण
स्वाभिमान
स्वाभिमान
Shweta Soni
Unveiling the Unseen: Paranormal Activities and Scientific Investigations
Unveiling the Unseen: Paranormal Activities and Scientific Investigations
Shyam Sundar Subramanian
आलाप
आलाप
Punam Pande
बाल कविता: नानी की बिल्ली
बाल कविता: नानी की बिल्ली
Rajesh Kumar Arjun
Mannato ka silsila , abhi jari hai, ruka nahi
Mannato ka silsila , abhi jari hai, ruka nahi
Sakshi Tripathi
💐प्रेम कौतुक-392💐
💐प्रेम कौतुक-392💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
दो शे'र ( मतला और इक शे'र )
दो शे'र ( मतला और इक शे'र )
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
एक उम्र
एक उम्र
Rajeev Dutta
2548.पूर्णिका
2548.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
उठ जाग मेरे मानस
उठ जाग मेरे मानस
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
ख़त आया तो यूँ लगता था,
ख़त आया तो यूँ लगता था,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
दिल होता .ना दिल रोता
दिल होता .ना दिल रोता
Vishal Prajapati
हर दिन एक नई शुरुआत हैं।
हर दिन एक नई शुरुआत हैं।
Sangeeta Beniwal
मैं अचानक चुप हो जाती हूँ
मैं अचानक चुप हो जाती हूँ
ruby kumari
Thought
Thought
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
Loading...