Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jan 25, 2017 · 1 min read

इनायत (ग़ज़ल)

ग़ज़ल
—–
मुझपे इनायत जो तेरी बनी रहे।
मेरे जीने की हसरत बनी रहे।

तेरी इबादत ही है करम अपना।
ये हमेशा मेरी आदत बनी रहे।

पाएं रूतबा-ए-शौहरत हम भी।
ग़र जहॉ में शराफत बनी रहे।

आदत हो मेरी बस चाह तेरी।
ये दुनिया मेरी जन्नत बनी रहे।

मेरी जां भी तुम तुम्ही मौला!
दिल पे तेरी हुकूमत बनी रहे।

ख़िदमत को तेरी मेरे-ए-खुदा।
जिस्म नुमा इमारत बनी रहे।

सरस़ब्ज़ रहे ये बग़िया यूंही।
जो तेरी हमपे रहमत बनी रहे।

सुधा भारद्वाज
विकासनगर उत्तराखण्ड

1 Like · 1 Comment · 143 Views
You may also like:
इश्क की तिशनगी है।
Taj Mohammad
✍️✍️हौंसला✍️✍️
"अशांत" शेखर
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है [भाग ५]
अनामिका सिंह
यादों का मंजर
Mahesh Tiwari 'Ayen'
भाईजान की बात
AJAY PRASAD
बुंदेली दोहा-डबला
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
यह कैसा प्यार है
अनामिका सिंह
कर्म पथ
AMRESH KUMAR VERMA
कुछ झूठ की दुकान लगाए बैठे है
Ram Krishan Rastogi
कोई तो जाके उसे मेरे दिल का हाल समझाये...!!
Ravi Malviya
🌷"फूलों की तरह जीना है"🌷
पंकज कुमार "कर्ण"
सपनों का महल
मनमोहन लाल गुप्ता अंजुम
कभी मिलोगी तब सुनाऊँगा ---- ✍️ मुन्ना मासूम
मुन्ना मासूम
जुबां खामोश रहती है
अनामिका सिंह
माँ क्या लिखूँ।
अनामिका सिंह
पापा आप बहुत याद आते हो।
Taj Mohammad
बेजुबान और कसाई
मनोज कर्ण
💐प्रेम की राह पर-32💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
गर तू होता क़िताब।
Taj Mohammad
हम लिखते क्यों हैं
पूनम झा 'प्रथमा'
पर्यावरण दिवस
Ram Krishan Rastogi
भगत सिंह का प्यार था देश
अनामिका सिंह
कबीर के राम
Shekhar Chandra Mitra
दौर-ए-सफर
DESH RAJ
गज़लें
AJAY PRASAD
तल्खिय़ां
Anoop Sonsi
जीवन उर्जा ईश्वर का वरदान है।
अनामिका सिंह
पिता श्रेष्ठ है इस दुनियां में जीवन देने वाला है
सतीश मिश्र "अचूक"
पिता जी का आशीर्वाद है !
Kuldeep mishra (KD)
युवता
Vijaykumar Gundal
Loading...