Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
28 Jun 2016 · 1 min read

आँखो से बात करे

कभी आता है ख्याल तुम्हारा,
दिल करता है तुमसे बात करे,
इतनी तो दुश्मनी नहीं है
चलो एक मुलाकात करे।

मै तुमसे तुम मुझसे हो,
खफा किस बात पर मालूम नहीं ,
इश्क पर किसी का जोर चलता नहीं,
जब इश्क का फैसला दो दिल साथ करे।

कहाँ से इब्तिदा करिये अब,
कि दीदार हुआ है तुम्हारा हमको,
दिल फिर भी कह रहा है जानम,
लबो को बंद रहने दो आँखो से बात करे।
#बेखुदअनुराग

Language: Hindi
Tag: कविता
1 Like · 250 Views
You may also like:
कहाँ मिलेंगे तेरे क़दमों के निशाँ
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
पंडित जी
सोनम राय
साये
shabina. Naaz
दोगले मित्र
अमरेश मिश्र 'सरल'
✍️तलाश करो तुम✍️
'अशांत' शेखर
अपने किसी पद का तू
gurudeenverma198
उनको मत समझाइए
राहुल द्विवेदी 'स्मित'
" तेल और बाती"
Dr Meenu Poonia
आसमान से ऊपर और जमीं के नीचे
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
~पिता~कविता~
Vijay kumar Pandey
कट कर जो क्षितिज की हो चुकी, उसे मांझे से...
Manisha Manjari
“मैं क्यों कहूँ मेरी लेखनी तुम पढ़ो”
DrLakshman Jha Parimal
और न साजन तड़पाओ अब तुम
Ram Krishan Rastogi
चलो चले कुछ करते है...
AMRESH KUMAR VERMA
✍️अपने .......
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
Writing Challenge- घर (Home)
Sahityapedia
बड़े गौर से....
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
■ सियासत का सबक़
*Author प्रणय प्रभात*
बाहों में आसमान
Kaur Surinder
*अनन्य हिंदी सेवी स्वर्गीय राजेंद्र मोहन शर्मा श्रंग*
Ravi Prakash
वाणशैय्या पर भीष्मपितामह
मनोज कर्ण
वरदान दो माँ
Saraswati Bajpai
विपक्ष की लापरवाही
Shekhar Chandra Mitra
हम ना सोते हैं।
Taj Mohammad
मेरा कृष्णा
Rakesh Bahanwal
शहीदे-आज़म पर दोहे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
**कर्मसमर्पणम्**
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
ख़ैरियत अपनी वो नहीं देगा
Dr fauzia Naseem shad
हक़ीक़त
Shyam Sundar Subramanian
दास्तां-ए-दर्द
Seema 'Tu hai na'
Loading...