Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 Apr 2024 · 1 min read

“अवसाद का रंग”

“अवसाद का रंग”
बीते कल के जल में
अवसाद का रंग न घुलता,
प्रेम की आहें सदृश
वो कभी रंग न बदलता।

1 Like · 42 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr. Kishan tandon kranti
View all
You may also like:
यूं ना कर बर्बाद पानी को
यूं ना कर बर्बाद पानी को
Ranjeet kumar patre
उलझी हुई जुल्फों में ही कितने उलझ गए।
उलझी हुई जुल्फों में ही कितने उलझ गए।
सत्य कुमार प्रेमी
3027.*पूर्णिका*
3027.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
*देकर ज्ञान गुरुजी हमको जीवन में तुम तार दो*
*देकर ज्ञान गुरुजी हमको जीवन में तुम तार दो*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
मेरी कलम
मेरी कलम
Shekhar Chandra Mitra
पावस
पावस
लक्ष्मी सिंह
*आंतरिक ऊर्जा*
*आंतरिक ऊर्जा*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
Holding onto someone who doesn't want to stay is the worst h
Holding onto someone who doesn't want to stay is the worst h
पूर्वार्थ
জীবন চলচ্চিত্রের একটি খালি রিল, যেখানে আমরা আমাদের ইচ্ছামত গ
জীবন চলচ্চিত্রের একটি খালি রিল, যেখানে আমরা আমাদের ইচ্ছামত গ
Sakhawat Jisan
दिल नहीं ऐतबार
दिल नहीं ऐतबार
Dr fauzia Naseem shad
नज़र का फ्लू
नज़र का फ्लू
आकाश महेशपुरी
एक फूल
एक फूल
अनिल "आदर्श"
जान लो पहचान लो
जान लो पहचान लो
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
हर एक चोट को दिल में संभाल रखा है ।
हर एक चोट को दिल में संभाल रखा है ।
Phool gufran
एक मशाल तो जलाओ यारों
एक मशाल तो जलाओ यारों
नेताम आर सी
नारी का अस्तित्व
नारी का अस्तित्व
रेखा कापसे
जहाँ में किसी का सहारा न था
जहाँ में किसी का सहारा न था
Anis Shah
This Love That Feels Right!
This Love That Feels Right!
R. H. SRIDEVI
Tea Lover Please Come 🍟☕️
Tea Lover Please Come 🍟☕️
Urmil Suman(श्री)
मौन
मौन
Shyam Sundar Subramanian
किसी का प्यार मिल जाए ज़ुदा दीदार मिल जाए
किसी का प्यार मिल जाए ज़ुदा दीदार मिल जाए
आर.एस. 'प्रीतम'
"बच सकें तो"
Dr. Kishan tandon kranti
सफ़र जिंदगी का (कविता)
सफ़र जिंदगी का (कविता)
Indu Singh
दुनिया जमाने में
दुनिया जमाने में
manjula chauhan
RATHOD SRAVAN WAS GREAT HONORED
RATHOD SRAVAN WAS GREAT HONORED
राठौड़ श्रावण लेखक, प्रध्यापक
अगर जाना था उसको
अगर जाना था उसको
कवि दीपक बवेजा
माना अपनी पहुंच नहीं है
माना अपनी पहुंच नहीं है
महेश चन्द्र त्रिपाठी
प्रकृति - विकास (कविता) 11.06 .19 kaweeshwar
प्रकृति - विकास (कविता) 11.06 .19 kaweeshwar
jayanth kaweeshwar
दुनियां में सब नौकर हैं,
दुनियां में सब नौकर हैं,
Anamika Tiwari 'annpurna '
शुभ प्रभात मित्रो !
शुभ प्रभात मित्रो !
Mahesh Jain 'Jyoti'
Loading...