Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 Dec 2023 · 1 min read

अर्थ में प्रेम है, काम में प्रेम है,

अर्थ में प्रेम है, काम में प्रेम है,
तीक्ष्ण स्वर में भी है, मौन में प्रेम है,
पत्र लिखता भी हूं क्रोध में तुमको तो,
शब्द में प्रेम है, वाक्य में प्रेम है।

Abhishek Soni

173 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
कुदरत
कुदरत
Neeraj Agarwal
कृष्ण वंदना
कृष्ण वंदना
लक्ष्मी सिंह
राखी है अनमोल बहना की ?
राखी है अनमोल बहना की ?
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
शंकर हुआ हूँ (ग़ज़ल)
शंकर हुआ हूँ (ग़ज़ल)
Rahul Smit
ऐसे हैं हमारे राम
ऐसे हैं हमारे राम
Shekhar Chandra Mitra
अर्ज किया है
अर्ज किया है
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
मन किसी ओर नहीं लगता है
मन किसी ओर नहीं लगता है
Shweta Soni
तुम्हें पाना-खोना एकसार सा है--
तुम्हें पाना-खोना एकसार सा है--
Shreedhar
आओ आज तुम्हें मैं सुला दूं
आओ आज तुम्हें मैं सुला दूं
Surinder blackpen
लफ़्ज़ों में ज़िंदगी को
लफ़्ज़ों में ज़िंदगी को
Dr fauzia Naseem shad
लड़कियां शिक्षा के मामले में लडको से आगे निकल रही है क्योंकि
लड़कियां शिक्षा के मामले में लडको से आगे निकल रही है क्योंकि
Rj Anand Prajapati
"बोलती आँखें"
पंकज कुमार कर्ण
पुस्तक विमर्श (समीक्षा )-
पुस्तक विमर्श (समीक्षा )- " साये में धूप "
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
Ignorance is the best way to hurt someone .
Ignorance is the best way to hurt someone .
Sakshi Tripathi
💐प्रेम कौतुक-370💐
💐प्रेम कौतुक-370💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
दो खग उड़े गगन में , प्रेम करते होंगे क्या ?
दो खग उड़े गगन में , प्रेम करते होंगे क्या ?
The_dk_poetry
बाधा को 'चल हट' कहता है,
बाधा को 'चल हट' कहता है,
Satish Srijan
करनी होगी जंग
करनी होगी जंग
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
* सहारा चाहिए *
* सहारा चाहिए *
surenderpal vaidya
सुनो पहाड़ की....!!! (भाग - ३)
सुनो पहाड़ की....!!! (भाग - ३)
Kanchan Khanna
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Jitendra Kumar Noor
नारी
नारी
Bodhisatva kastooriya
माशा अल्लाह, तुम बहुत लाजवाब हो
माशा अल्लाह, तुम बहुत लाजवाब हो
gurudeenverma198
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
समस्त वंदनीय, अभिनन्दनीय मातृशक्ति को अखंड सौभाग्य के प्रतीक
समस्त वंदनीय, अभिनन्दनीय मातृशक्ति को अखंड सौभाग्य के प्रतीक
*Author प्रणय प्रभात*
कुछ काम करो , कुछ काम करो
कुछ काम करो , कुछ काम करो
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
Miracles in life are done by those who had no other
Miracles in life are done by those who had no other "options
Nupur Pathak
2443.पूर्णिका
2443.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
*हृदय की वेदना हर एक से कहना नहीं अच्छा (मुक्तक)*
*हृदय की वेदना हर एक से कहना नहीं अच्छा (मुक्तक)*
Ravi Prakash
बुजुर्ग ओनर किलिंग
बुजुर्ग ओनर किलिंग
Mr. Rajesh Lathwal Chirana
Loading...