Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
27 Jan 2017 · 1 min read

अभिनन्दन गीत- स्वागत गीत

अभिनन्दन है, अभिनन्दन, अभिनन्दन है, अभिनन्दन।
पावन इस बेला पर करते, हम सब जन मिलकर वंदन।।

अहोभाग्य अपना है ये कि, आप हमारे बीच पधारे।
नहीं बता सकते हैं कितने, हर्षित जन गन मन सारे।।
रजधूलि पे कदम पड़ा तो, महक उठी है रज कणकण।
अभिनन्दन है, अभिनन्दन, अभिनन्दन है, अभिनन्दन।1।

एक निवेदन को स्वीकारे, सभी आपके आभारी।
मान बढ़ाये शान बढ़ाये, जाये तुम पर बलिहारी।।
जयजय बोल रहे हैं सबही, होकरके चन्दन चन्दन।
अभिनन्दन है, अभिनन्दन, अभिनन्दन है, अभिनन्दन।2।

याद किया हमने और तुमने, हमको नहीं निराश किया।
दरस आपके मानो जिसने, दिल में परम् उजास किया।।
होता रहे आपका हरदम, आगमन अब तो श्रीमन।
अभिनन्दन है, अभिनन्दन, अभिनन्दन है, अभिनन्दन।3।

Language: Hindi
Tag: गीत
6 Likes · 4 Comments · 22449 Views
You may also like:
¡*¡ हम पंछी : कोई हमें बचा लो ¡*¡
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
इंसान होकर भी
Dr fauzia Naseem shad
स्याह रात ने पंख फैलाए, घनघोर अँधेरा काफी है।
Manisha Manjari
YOG KIJIYE SWASTHY LIJIYE
DR ARUN KUMAR SHASTRI
तेरे दुःख दर्द कितने सुर्ख है l
अरविन्द व्यास
सोचता रहता है वह
gurudeenverma198
जूते जूती की महिमा (हास्य व्यंग)
Ram Krishan Rastogi
पुस्तैनी जमीन
आकाश महेशपुरी
दो दिन का प्यार था छोरी , दो दिन में...
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
मोहब्बत ही आजकल कम हैं
Dr.sima
शाम सुहानी
लक्ष्मी सिंह
पानी की कहानी, मेरी जुबानी
Anamika Singh
संडे की व्यथा
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
क्यों हो गए हम बड़े
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
*थके-हारे अगर हो तो, तनिक विश्राम कर लेना (मुक्तक)*
Ravi Prakash
चाल कुछ ऐसी चल गया कोई।
सत्य कुमार प्रेमी
ईर्ष्या
Saraswati Bajpai
छठ महापर्व
श्री रमण 'श्रीपद्'
शुभ स्वतंत्रता दिवस मनाए
Pt. Brajesh Kumar Nayak
मौसम
Surya Barman
मानव तू हाड़ मांस का।
Taj Mohammad
यकीन
Vikas Sharma'Shivaaya'
"रिश्ते"
Ajit Kumar "Karn"
प्रेम -जगत/PREM JAGAT
Shivraj Anand
धार छंद
Pakhi Jain
🥗फीका 💦 त्यौहार💥 (नाट्य रूपांतरण)
पाण्डेय चिदानन्द
तेरी एक तिरछी नज़र
DESH RAJ
गरम हुई तासीर दही की / (गर्मी का नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
✍️ये खास सबक है✍️
'अशांत' शेखर
मोरे मन-मंदिर....।
Kanchan Khanna
Loading...