Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Nov 24, 2016 · 1 min read

अच्छे दिन आएँगे

मोदी सरकार जब करेगी सबके सपने साकार तब अच्छे दिन आएँगे ।
मोदी सरकार देगी जब योजनाओं को पूर्ण आकार तब अच्छे दिन आएँगे ।।
जब सबको उपलब्ध होगा आवास तब अच्छे दिन आएँगे ।
लक्ष्मी जी का होगा हर घर में वास तब अच्छे दिन आएँगे ।।
ना होगी जब कमी जल की तब अच्छे दिन आएँगे ।
किसी को ना होगी जब रोटी की चिंता कल की तब अच्छे दिन आएँगे ।।
जब सभी होंगे शिक्षित और अपना हक पाएँगे ।
तब अच्छे दिन आएँगे ।।
स्वच्छ होगा जब भारत तब अच्छे दिन आएँगे ।
स्वस्थ होंगे जब सब तब अच्छे दिन आएँगे।।
– नवीन कुमार जैन

2 Comments · 218 Views
You may also like:
उम्मीद से भरा
Dr.sima
कविता - राह नहीं बदलूगां
Chatarsingh Gehlot
एक प्रश्न
Aditya Prakash
आज का विकास या भविष्य की चिंता
Vishnu Prasad 'panchotiya'
पाकीज़ा इश्क़
VINOD KUMAR CHAUHAN
हर किसी में अदबो-लिहाज़ ना होता है।
Taj Mohammad
यह कैसा प्यार है
Anamika Singh
चूँ-चूँ चूँ-चूँ आयी चिड़िया
Pt. Brajesh Kumar Nayak
एक गलती ( लघु कथा)
Ravi Prakash
एक बात... पापा, करप्शन.. लेना
Nitu Sah
कौन कहता कि स्वाधीन निज देश है?
Pt. Brajesh Kumar Nayak
जय जगजननी ! मातु भवानी(भगवती गीत)
मनोज कर्ण
अहसास
Vikas Sharma'Shivaaya'
घड़ी
Utsav Kumar Aarya
पिता का साया हूँ
N.ksahu0007@writer
✍️आरसे✍️
"अशांत" शेखर
अग्रवाल समाज और स्वाधीनता संग्राम( 1857 1947)
Ravi Prakash
वर्तमान से वक्त बचा लो तुम निज के निर्माण में...
AJAY AMITABH SUMAN
श्री राधा मोहन चतुर्वेदी
Ravi Prakash
"विहग"
Ajit Kumar "Karn"
जो चाहे कर सकता है
Alok kumar Mishra
बना कुंच से कोंच,रेल-पथ विश्रामालय।।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
✍️ये अज़ीब इश्क़ है✍️
"अशांत" शेखर
✍️✍️भोंगे✍️✍️
"अशांत" शेखर
*!* मोहब्बत पेड़ों से *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
खेलता ख़ुद आग से है
Shivkumar Bilagrami
शैशव की लयबद्ध तरंगे
Rashmi Sanjay
* अदृश्य ऊर्जा *
Dr. Alpa H. Amin
दरारों से।
Taj Mohammad
✍️स्टेचू✍️
"अशांत" शेखर
Loading...