Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Oct 2022 · 1 min read

अंधेरा मिटाना होगा

क्यों अंधेरे से डरते हो
इससे डरना नहीं है हमने
लड़कर इससे एक दिन
इसे तो भगाना है हमने

एक दीया ही तो जलाना है
अंधेरा खुद ब खुद भाग जायेगा
लेकिन ये सब होगा तभी
जब तू नींद से जाग जायेगा

अंधेरे में भी कोई बुराई नहीं
अगर वो आकर चला जाता है
जब देखा हो अंधेरा हमने
तभी तो रोशनी का मज़ा आता है

हो अगर अंधेरा सामने तो
हमें कुछ भी नज़र नहीं है आता
ढूंढकर है दीया जब कोई जलाता
देखकर रोशनी अंधेरा है भाग जाता

ये ज़रूरी नहीं हर बार कि
दीया पास ही हो हमारे
कभी कभी दीया बनाने में
बहुत प्रयास लगते है हमारे

यही तो जीवन है हमारा
केवल संघर्ष से ही तम मिटता है
परिवार रहे हमेशा रोशनी में
जीवन इसी उधेड़बुन में कटता है

मिलकर लड़ने से आसान होती है
अंधेरे के खिलाफ हमारी लड़ाई
असमर्थ है जो उनकी मदद करके
अवश्य जीत जायेंगे हम ये लड़ाई।

Language: Hindi
15 Likes · 3 Comments · 971 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
🦋 आज की प्रेरणा 🦋
🦋 आज की प्रेरणा 🦋
Tarun Singh Pawar
* भावना स्नेह की *
* भावना स्नेह की *
surenderpal vaidya
सुनो जीतू,
सुनो जीतू,
Jitendra kumar
स्वप्न मन के सभी नित्य खंडित हुए ।
स्वप्न मन के सभी नित्य खंडित हुए ।
Arvind trivedi
तुम गंगा की अल्हड़ धारा
तुम गंगा की अल्हड़ धारा
Sahil Ahmad
।। रावण दहन ।।
।। रावण दहन ।।
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
2632.पूर्णिका
2632.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
ये मन तुझसे गुजारिश है, मत कर किसी को याद इतना
ये मन तुझसे गुजारिश है, मत कर किसी को याद इतना
$úDhÁ MãÚ₹Yá
एक ऐसा दृश्य जो दिल को दर्द से भर दे और आंखों को आंसुओं से।
एक ऐसा दृश्य जो दिल को दर्द से भर दे और आंखों को आंसुओं से।
Rekha khichi
सागर
सागर
नूरफातिमा खातून नूरी
मत याद करो बीते पल को
मत याद करो बीते पल को
Surya Barman
ये तो मुहब्बत में
ये तो मुहब्बत में
Shyamsingh Lodhi (Tejpuriya)
*रामदेव जी धन्य तुम (नौ दोहे)*
*रामदेव जी धन्य तुम (नौ दोहे)*
Ravi Prakash
गुनाह ना करके भी
गुनाह ना करके भी
Harminder Kaur
तलाश है।
तलाश है।
नेताम आर सी
विपक्ष से सवाल
विपक्ष से सवाल
Shekhar Chandra Mitra
"जाग दुखियारे"
Dr. Kishan tandon kranti
हर एकपल तेरी दया से माँ
हर एकपल तेरी दया से माँ
Basant Bhagawan Roy
वक्त के आगे
वक्त के आगे
Sangeeta Beniwal
Teri gunehgar hu mai ,
Teri gunehgar hu mai ,
Sakshi Tripathi
दीवाली की रात आयी
दीवाली की रात आयी
Sarfaraz Ahmed Aasee
कुछ अपने रूठे,कुछ सपने टूटे,कुछ ख़्वाब अधूरे रहे गए,
कुछ अपने रूठे,कुछ सपने टूटे,कुछ ख़्वाब अधूरे रहे गए,
Vishal babu (vishu)
इतने दिनों बाद आज मुलाकात हुईं,
इतने दिनों बाद आज मुलाकात हुईं,
Stuti tiwari
नज़राना
नज़राना
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
Life is proceeding at a fast rate with catalysts making it e
Life is proceeding at a fast rate with catalysts making it e
Sukoon
लोगों की फितरत का क्या कहें जनाब यहां तो,
लोगों की फितरत का क्या कहें जनाब यहां तो,
Yogendra Chaturwedi
युगांतर
युगांतर
Suryakant Dwivedi
कितना अच्छा है मुस्कुराते हुए चले जाना
कितना अच्छा है मुस्कुराते हुए चले जाना
Rohit yadav
"निरक्षर-भारती"
Prabhudayal Raniwal
मेरे 20 सर्वश्रेष्ठ दोहे
मेरे 20 सर्वश्रेष्ठ दोहे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
Loading...