Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
4 Mar 2023 · 1 min read

💐Prodigy Love-30💐

Oh Dear!
Desperately,You put forward your words.
While,I told everything as joke.
That was only when,I made a proper acquaintance with your family.
I mean your heart and soul.
But you used shackles to bind my mind by your vehement words.
Really, I know.That was your self defence.
Ha.Ha.
But you again caged yourself against your wish.
Why?then,I needed your words.
From you,not a single word of my praise,I listen.
It might be fake in sense.but such was not occur.
Why?You were also half in mind and soul.
This decision was not your soul.
Was from your mind.
Let pray for this to God.
By which,He has made all the hurdles smooth.
Or You put on your anger from your mind.
And feel ecstasy.
Thanks.
©® Abhishek Parashar “Aanand”

Language: English
56 Views
Join our official announcements group on Whatsapp & get all the major updates from Sahityapedia directly on Whatsapp.
You may also like:
प्यासा मन
प्यासा मन
नेताम आर सी
प्रेमचंद के पत्र
प्रेमचंद के पत्र
Ravi Prakash
"याद रहे"
Dr. Kishan tandon kranti
बिखरने की सौ बातें होंगी,
बिखरने की सौ बातें होंगी,
Vishal babu (vishu)
*धूप में रक्त मेरा*
*धूप में रक्त मेरा*
सूर्यकांत द्विवेदी
■ आज का शेर...
■ आज का शेर...
*Author प्रणय प्रभात*
कुटुंब के नसीब
कुटुंब के नसीब
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
पिता
पिता
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
बड़ी मुश्किल से लगा दिल
बड़ी मुश्किल से लगा दिल
कवि दीपक बवेजा
मोहब्बत कर देती है इंसान को खुदा।
मोहब्बत कर देती है इंसान को खुदा।
Surinder blackpen
शिमला
शिमला
डॉ प्रवीण ठाकुर
बहुत दिनों से सोचा था, जाएंगे पुस्तक मेले में।
बहुत दिनों से सोचा था, जाएंगे पुस्तक मेले में।
सत्य कुमार प्रेमी
बड़ी ठोकरो के बाद संभले हैं साहिब
बड़ी ठोकरो के बाद संभले हैं साहिब
Jay Dewangan
मित्रता
मित्रता
Mahendra singh kiroula
नर नारी संवाद
नर नारी संवाद
DR ARUN KUMAR SHASTRI
ज़िन्दगी मैं चाल तेरी  अब  समझती जा रही हूँ
ज़िन्दगी मैं चाल तेरी अब समझती जा रही हूँ
Dr Archana Gupta
ऋतुराज वसंत
ऋतुराज वसंत
Raju Gajbhiye
मेरी धड़कन मेरे गीत
मेरी धड़कन मेरे गीत
Prakash Chandra
यूं जो उसको तकते हो।
यूं जो उसको तकते हो।
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
*कोई नई ना बात है*
*कोई नई ना बात है*
Dushyant Kumar
सच्ची पूजा
सच्ची पूजा
DESH RAJ
भगवन नाम
भगवन नाम
लक्ष्मी सिंह
💐प्रेम कौतुक-404💐
💐प्रेम कौतुक-404💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
गिर गिर कर हुआ खड़ा...
गिर गिर कर हुआ खड़ा...
AMRESH KUMAR VERMA
शिक्षक दिवस
शिक्षक दिवस
Rajni kapoor
पहला-पहला प्यार
पहला-पहला प्यार
Shekhar Chandra Mitra
बच्चे को उपहार ना दिया जाए,
बच्चे को उपहार ना दिया जाए,
Shubham Pandey (S P)
कर ले कुछ बात
कर ले कुछ बात
जगदीश लववंशी
सिकन्दर बनकर क्या करना
सिकन्दर बनकर क्या करना
Satish Srijan
सूखा पत्ता
सूखा पत्ता
Dr Nisha nandini Bhartiya
Loading...