Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 Mar 2023 · 1 min read

💐 Prodigy Love-29💐

Oh Dear!
What are we flippant?
No.Then,how you think about my journey.
Perhaps,you consider it as smooth as your cheek.
No, it is not Iike your cheek.
Even though, what are you thinking?
You Speak it,not so.but you are correct.
What!You have this potential.
Then, why have you hided your face?
Only,once time,let come with your face.
With your ideas and with your heart.
These,all are connected with us.
Nothing is single.
Single is nothing.
Let adopt this path.
Otherwise,you will see change.
You will feel change.
Oh Dear!
©® Abhishek Parashar “Aanand”

Language: Hindi
74 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
बिछड़ के नींद से आँखों में बस जलन होगी।
बिछड़ के नींद से आँखों में बस जलन होगी।
Prashant mishra (प्रशान्त मिश्रा मन)
देशभक्ति का राग सुनो
देशभक्ति का राग सुनो
Sandeep Pande
तिरंगे के तीन रंग , हैं हमारी शान
तिरंगे के तीन रंग , हैं हमारी शान
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
जीवन के मोड़
जीवन के मोड़
Ravi Prakash
ख़ुशी मिले कि मिले ग़म मुझे मलाल नहीं
ख़ुशी मिले कि मिले ग़म मुझे मलाल नहीं
Anis Shah
Mana ki mohabbat , aduri nhi hoti
Mana ki mohabbat , aduri nhi hoti
Sakshi Tripathi
आज़ादी का जश्न
आज़ादी का जश्न
Shekhar Chandra Mitra
💐प्रेम कौतुक-338💐
💐प्रेम कौतुक-338💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
"राखी के धागे"
Ekta chitrangini
प्रिय विरह - २
प्रिय विरह - २
लक्ष्मी सिंह
तुम्हारा चश्मा
तुम्हारा चश्मा
Dr. Seema Varma
जिंदगी जीने का सबका अलग सपना
जिंदगी जीने का सबका अलग सपना
कवि दीपक बवेजा
कैसे भुल जाऊ उस राह को जिस राह ने मुझे चलना सिखाया
कैसे भुल जाऊ उस राह को जिस राह ने मुझे चलना सिखाया
Shakil Alam
विश्ववाद
विश्ववाद
Jeewan Singh 'जीवनसवारो'
ख्वाब नाज़ुक हैं
ख्वाब नाज़ुक हैं
rkchaudhary2012
धारा छंद 29 मात्रा , मापनी मुक्त मात्रिक छंद , 15 - 14 , यति गाल , पदांत गा
धारा छंद 29 मात्रा , मापनी मुक्त मात्रिक छंद , 15 - 14 , यति गाल , पदांत गा
Subhash Singhai
जिंदगी की धुंध में कुछ भी नुमाया नहीं।
जिंदगी की धुंध में कुछ भी नुमाया नहीं।
Surinder blackpen
Few incomplete wishes💔
Few incomplete wishes💔
Vandana maurya
हमसाया
हमसाया
Manisha Manjari
हमको अब पढ़ने स्कूल जाना है
हमको अब पढ़ने स्कूल जाना है
gurudeenverma198
দিগন্তে ছেয়ে আছে ধুলো
দিগন্তে ছেয়ে আছে ধুলো
Sakhawat Jisan
प्रेम की अनिवार्यता
प्रेम की अनिवार्यता
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
बिहार दिवस  (22 मार्च 2023, 111 वां स्थापना दिवस)
बिहार दिवस  (22 मार्च 2023, 111 वां स्थापना दिवस)
रुपेश कुमार
वो तो शहर से आए थे
वो तो शहर से आए थे
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
खेल करे पैसा मिले,
खेल करे पैसा मिले,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
जब तक हयात हो
जब तक हयात हो
Dr fauzia Naseem shad
गंदा धंधा
गंदा धंधा
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
तू होती तो
तू होती तो
Satish Srijan
"मेरी नयी स्कूटी"
Dr Meenu Poonia
■ मुक्तक...
■ मुक्तक...
*Author प्रणय प्रभात*
Loading...