Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Feb 2023 · 1 min read

Khahisho ke samandar me , gote lagati meri hasti.

Khahisho ke samandar me , gote lagati meri hasti.
Kbhi dheere kbhi gati se, nirantar bahti meri kashti😍
By sakshi

38 Views
You may also like:
*
*"वो भी क्या दीवाली थी"*
Shashi kala vyas
रात उसको अब अकेले खल रही होगी
रात उसको अब अकेले खल रही होगी
Dr. Pratibha Mahi
उड़ता लेवे तीर
उड़ता लेवे तीर
Sadanand Kumar
वो प्रकाश बन कर आई जिंदगी में
वो प्रकाश बन कर आई जिंदगी में
J_Kay Chhonkar
नदिया रोये....
नदिया रोये....
Ashok deep
Pal bhar ki khahish ko jid bna kar , apne shan ki lash uthai
Pal bhar ki khahish ko jid bna kar , apne...
Sakshi Tripathi
सावन आया आई बहार
सावन आया आई बहार
Anamika Singh
।#कविता
।#कविता
*Author प्रणय प्रभात*
न जाने तुम कहां चले गए
न जाने तुम कहां चले गए
Ram Krishan Rastogi
*माता (कुंडलिया)*
*माता (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
विचार सरिता
विचार सरिता
Shyam Sundar Subramanian
हर खिलते हुए फूल की कलियां मरोड़ देता है ,
हर खिलते हुए फूल की कलियां मरोड़ देता है ,
कवि दीपक बवेजा
भोक
भोक
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
Writing Challenge- समय (Time)
Writing Challenge- समय (Time)
Sahityapedia
अजनबी सा लगता है मुझे अब हर एक शहर
अजनबी सा लगता है मुझे अब हर एक शहर
'अशांत' शेखर
क्षमा
क्षमा
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
जहां पर रब नही है
जहां पर रब नही है
अनूप अम्बर
आखिरी उम्मीद
आखिरी उम्मीद
Surya Barman
नजरों से इशारा कर गए हैं।
नजरों से इशारा कर गए हैं।
Taj Mohammad
I knew..
I knew..
Vandana maurya
इस तरह से
इस तरह से
Dr fauzia Naseem shad
चाहत
चाहत
Dr Archana Gupta
नया साल
नया साल
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
बेइंतहा इश्क़
बेइंतहा इश्क़
Shekhar Chandra Mitra
मुक्तक
मुक्तक
प्रीतम श्रावस्तवी
नजदीक
नजदीक
जय लगन कुमार हैप्पी
फौजी जवान
फौजी जवान
Satish Srijan
💐Prodigy Love-7💐
💐Prodigy Love-7💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Calling with smartphone !
Calling with smartphone !
Buddha Prakash
दुनियां और जंग
दुनियां और जंग
सत्य कुमार प्रेमी
Loading...