Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
30 Dec 2022 · 1 min read

Gazal

तुम्हारा होंठ लिखूंगा और उसको जाम लिखूंगा।
मैं अपनी हर ग़ज़ल में बस तुम्हारा नाम लिखूंगा।

तुम्हारा हुस्न लिखूंगा मैं सुबह ए बनारस में।
तुम्हारा इश्क लिखूंगा अवध की शाम लिखूंगा।

रातों दिन तुम्हारे नाम की तस्वीह पढ़ता हूं।
तुम्हें बस चाहते रहना मैं अपना काम लिखूंगा

तुम्हारे बिन हमारी जिंदगी का कौन सा मतलब।
तुम्हारे नाम से ही जोड़कर मैं नाम लिखूंगा।

न कोई मिस्र की बाजार, न यूसुफ जुलेखा है।
तेरी चाहत लिखूंगा मैं *सगीर” अंजाम लिखूंगा।

147 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
हम वर्षों तक निःशब्द ,संवेदनरहित और अकर्मण्यता के चादर को ओढ़
हम वर्षों तक निःशब्द ,संवेदनरहित और अकर्मण्यता के चादर को ओढ़
DrLakshman Jha Parimal
*भगत सिंह हूँ फैन  सदा तेरी शराफत का*
*भगत सिंह हूँ फैन सदा तेरी शराफत का*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
मार्केटिंग फंडा
मार्केटिंग फंडा
Dr. Pradeep Kumar Sharma
3219.*पूर्णिका*
3219.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
बुंदेली चौकड़िया
बुंदेली चौकड़िया
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
एकांत
एकांत
DR ARUN KUMAR SHASTRI
शहर की बस्तियों में घोर सन्नाटा होता है,
शहर की बस्तियों में घोर सन्नाटा होता है,
Abhishek Soni
लेती है मेरा इम्तिहान ,कैसे देखिए
लेती है मेरा इम्तिहान ,कैसे देखिए
Shweta Soni
भले ही तुम कड़वे नीम प्रिय
भले ही तुम कड़वे नीम प्रिय
Ram Krishan Rastogi
विटप बाँटते छाँव है,सूर्य बटोही धूप।
विटप बाँटते छाँव है,सूर्य बटोही धूप।
डॉक्टर रागिनी
🌹थम जा जिन्दगी🌹
🌹थम जा जिन्दगी🌹
Dr Shweta sood
जीना भूल गए है हम
जीना भूल गए है हम
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
"गरीबों की दिवाली"
Yogendra Chaturwedi
"अनमोल"
Dr. Kishan tandon kranti
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
दुनिया तभी खूबसूरत लग सकती है
दुनिया तभी खूबसूरत लग सकती है
ruby kumari
द़ुआ कर
द़ुआ कर
Atul "Krishn"
ਯੂਨੀਵਰਸਿਟੀ ਦੇ ਗਲਿਆਰੇ
ਯੂਨੀਵਰਸਿਟੀ ਦੇ ਗਲਿਆਰੇ
Surinder blackpen
Perfection, a word which cannot be described within the boun
Perfection, a word which cannot be described within the boun
Sukoon
हम तो किरदार की
हम तो किरदार की
Dr fauzia Naseem shad
शिशुपाल वध
शिशुपाल वध
SHAILESH MOHAN
मोहब्बत बनी आफत
मोहब्बत बनी आफत
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
जल बचाकर
जल बचाकर
surenderpal vaidya
प्यार भरी चांदनी रात
प्यार भरी चांदनी रात
नूरफातिमा खातून नूरी
"नमक"
*Author प्रणय प्रभात*
विश्व शांति की करें प्रार्थना, ईश्वर का मंगल नाम जपें
विश्व शांति की करें प्रार्थना, ईश्वर का मंगल नाम जपें
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
*युगपुरुष राम भरोसे लाल (नाटक)*
*युगपुरुष राम भरोसे लाल (नाटक)*
Ravi Prakash
जलने वालों का कुछ हो नहीं सकता,
जलने वालों का कुछ हो नहीं सकता,
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
ख़ुद्दार बन रहे हैं पर लँगड़ा रहा ज़मीर है
ख़ुद्दार बन रहे हैं पर लँगड़ा रहा ज़मीर है
पूर्वार्थ
जीवन में शॉर्ट कट 2 मिनट मैगी के जैसे होते हैं जो सिर्फ दो म
जीवन में शॉर्ट कट 2 मिनट मैगी के जैसे होते हैं जो सिर्फ दो म
Neelam Sharma
Loading...