Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
29 Sep 2023 · 1 min read

Ek gali sajaye baithe hai,

Ek gali sajaye baithe hai,
Hm khud ko bhulaye baithe hai,
Bheed bhut h adhere me,
Ek hm hi h jo khud ka diya,
Umeedo se jagaye baithe hai,
Khuch khab adhure rakhe hai,
Purani almari ke darako se,
Jo nirantar hi jhak rhi,
Jiski aas lagaye baithe the,
Band kmre ki tad se ,
Khuch kone h jo simte h ,
Khuch kone h jinhe talashna hai,
Ek hm hi h jo bat bat pr ,
Khud hi ruthe aur ,
Khud ko hi manaye baithe hai.

1 Like · 176 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
(19) तुझे समझ लूँ राजहंस यदि----
(19) तुझे समझ लूँ राजहंस यदि----
Kishore Nigam
Thought
Thought
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
" ब्रह्माण्ड की चेतना "
Dr Meenu Poonia
Anxiety fucking sucks.
Anxiety fucking sucks.
पूर्वार्थ
बहाना मिल जाए
बहाना मिल जाए
Srishty Bansal
2853.*पूर्णिका*
2853.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
🌿⚘️ मेरी दिव्य प्रेम कविता ⚘️🌿
🌿⚘️ मेरी दिव्य प्रेम कविता ⚘️🌿
Ms.Ankit Halke jha
*बल गीत (वादल )*
*बल गीत (वादल )*
Rituraj shivem verma
चलती है जिन्दगी
चलती है जिन्दगी
डॉ. शिव लहरी
काश जन चेतना भरे कुलांचें
काश जन चेतना भरे कुलांचें
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
पिया मिलन की आस
पिया मिलन की आस
Kanchan Khanna
न जाने क्या ज़माना चाहता है
न जाने क्या ज़माना चाहता है
Dr. Alpana Suhasini
खुदकुशी नहीं, इंक़लाब करो
खुदकुशी नहीं, इंक़लाब करो
Shekhar Chandra Mitra
कर्मठ व्यक्ति की सहनशीलता ही धैर्य है, उसके द्वारा किया क्षम
कर्मठ व्यक्ति की सहनशीलता ही धैर्य है, उसके द्वारा किया क्षम
Sanjay ' शून्य'
हिंदू सनातन धर्म
हिंदू सनातन धर्म
विजय कुमार अग्रवाल
Jindagi ka kya bharosa,
Jindagi ka kya bharosa,
Sakshi Tripathi
डर
डर
अखिलेश 'अखिल'
हसरतों के गांव में
हसरतों के गांव में
Harminder Kaur
आतंकवाद को जड़ से मिटा दो
आतंकवाद को जड़ से मिटा दो
gurudeenverma198
मर्चा धान को मिला जीआई टैग
मर्चा धान को मिला जीआई टैग
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
◆हरे-भरे रहने के लिए ज़रूरी है जड़ से जुड़े रहना।
◆हरे-भरे रहने के लिए ज़रूरी है जड़ से जुड़े रहना।
*Author प्रणय प्रभात*
तुम्हीं हो
तुम्हीं हो
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
ज़िदादिली
ज़िदादिली
Shyam Sundar Subramanian
"ये याद रखना"
Dr. Kishan tandon kranti
💐प्रेम कौतुक-451💐
💐प्रेम कौतुक-451💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
तुम अगर कविता बनो तो गीत मैं बन जाऊंगा।
तुम अगर कविता बनो तो गीत मैं बन जाऊंगा।
जगदीश शर्मा सहज
मुफ़लिसी एक बद्दुआ
मुफ़लिसी एक बद्दुआ
Dr fauzia Naseem shad
लिया समय ने करवट
लिया समय ने करवट
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
मेरी बेटी
मेरी बेटी
लक्ष्मी सिंह
उनकी जब ये ज़ेह्न बुराई कर बैठा
उनकी जब ये ज़ेह्न बुराई कर बैठा
Anis Shah
Loading...