Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
Jul 31, 2016 · 1 min read

गजल

देख तुझको हमें करार मिला
आज जीवन कहीं उधार मिला

प्यास मिटती गई तभी मेरी
प्यार का जब मुझे खुमार मिला

जब मिला तू नहीं कभी उससे
रोज तेरा उसे इन्तजार मिला

साथ तेरा मुझे मिला प्यारा
जब रचा ब्याह साथ यार मिला

गोद मेरी भरी बहन ने जब
वक्त उस तो यहीं नया हार मिला

ढूढ़ता हूँ कहाँ -कहाँ उसको
वो हमें तो इसी नदी पार मिला

देख लाखों भटक रहे है क्यों
कर पता कोन सा न सार मिला

67 Likes · 1 Comment · 293 Views
You may also like:
✍️स्कूल टाइम ✍️
Vaishnavi Gupta
फिर भी वो मासूम है
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
पिता
Saraswati Bajpai
बे'बसी हमको चुप करा बैठी
Dr fauzia Naseem shad
कुछ कहना है..
Vaishnavi Gupta
पिता
Shankar J aanjna
"पधारो, घर-घर आज कन्हाई.."
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
पितृ स्तुति
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
मैं हिन्दी हूँ , मैं हिन्दी हूँ / (हिन्दी दिवस...
ईश्वर दयाल गोस्वामी
✍️यूँही मैं क्यूँ हारता नहीं✍️
'अशांत' शेखर
दर्द इतने बुरे नहीं होते
Dr fauzia Naseem shad
सब अपने नसीबों का
Dr fauzia Naseem shad
क्यों हो गए हम बड़े
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
हम और तुम जैसे…..
Rekha Drolia
'याद पापा आ गये मन ढाॅंपते से'
Rashmi Sanjay
बेटी को जन्मदिन की बधाई
लक्ष्मी सिंह
मर्यादा का चीर / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
✍️आज के युवा ✍️
Vaishnavi Gupta
The Sacrifice of Ravana
Abhineet Mittal
पहाड़ों की रानी शिमला
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
✍️इतने महान नही ✍️
Vaishnavi Gupta
ईश्वरतत्वीय वरदान"पिता"
Archana Shukla "Abhidha"
पिता के रिश्ते में फर्क होता है।
Taj Mohammad
मेरा खुद पर यकीन न खोता
Dr fauzia Naseem shad
काश....! तू मौन ही रहता....
Dr. Pratibha Mahi
बुद्ध या बुद्धू
Priya Maithil
स्वर कटुक हैं / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
मिठाई मेहमानों को मुबारक।
Buddha Prakash
दर्द की हम दवा
Dr fauzia Naseem shad
पिता जी
Rakesh Pathak Kathara
Loading...