Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
20 Nov 2023 · 1 min read

😊लघु-कथा :–

#लघुकथा :–
■ बेशर्म भंवरा, लालची कमल।।
【प्रणय प्रभात】
रस का “लोभी भँवरा भुन-भुन कर के लगभग भुन चुका था। खूब मंडराया मगर रस की बूंद तक नागफनी से
न मिली। ना ही धतूरे और बबूल से।
पसीने से लथपथ और बेहाल था आवारा व मुंहफट भँवरा। T5प्रतीक्षारत कमल ने सवेरा होते ही अपनी पंखुड़ियां खोल दीं। आगे का काम ज़िद्दी और बेशर्म भँवरे की मर्ज़ी पर छोड़ दिया। डायरेक्ट शहद के चक्कर मे वही तो भागा था रूठ कर।
पूरे तालाब पर कब्ज़ा जमा चुके कमल को भँवरे का चरित्र पता था। फिर भी उसे आगोश में लेने का लालच मन से नहीं गया। आख़िर उसे दूसरे भंवरों को भी ललचाना था। मंशा अपना आकर्षण व प्रभाय दिखाने की भी थी। मौके का फ़ायदा उठा कर दीन-ईमान रहित भंवरा पराग के लिए कमल की गोद में समा गया। उसी कमल की गोद में, जिसे वो चार दिन पहले तक बिना पानी पिए कोस रहा था।
भँवरे की करतूतों के आदी किसी भी तमाशबीन को इस मेल-जोल पर कोई अचरज नहीं था। वजह बस इतनी सी थी कि उन्हें दलबदलू भँवरे के साथ-साथ कीचड़ में खिले कमल का चरित्र भी बख़ूबी पता था।
■प्रणय प्रभात■
●संपादक/न्यूज़&व्यूज़●
श्योपुर (मध्यप्रदेश)

1 Like · 140 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
जिस तरीके से तुम हो बुलंदी पे अपने
जिस तरीके से तुम हो बुलंदी पे अपने
सिद्धार्थ गोरखपुरी
हम ख़फ़ा हो
हम ख़फ़ा हो
Dr fauzia Naseem shad
लोकतन्त्र के हत्यारे अब वोट मांगने आएंगे
लोकतन्त्र के हत्यारे अब वोट मांगने आएंगे
Er.Navaneet R Shandily
जीवन अप्रत्याशित
जीवन अप्रत्याशित
पूर्वार्थ
एक अच्छे मुख्यमंत्री में क्या गुण होने चाहिए ?
एक अच्छे मुख्यमंत्री में क्या गुण होने चाहिए ?
Vandna thakur
आजकल स्याही से लिखा चीज भी,
आजकल स्याही से लिखा चीज भी,
Dr. Man Mohan Krishna
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
धरती
धरती
manjula chauhan
"फुटपाथ"
Dr. Kishan tandon kranti
*
*"वो भी क्या दिवाली थी"*
Shashi kala vyas
इतना आदर
इतना आदर
Basant Bhagawan Roy
" शांत शालीन जैसलमेर "
Dr Meenu Poonia
पुजारी शांति के हम, जंग को भी हमने जाना है।
पुजारी शांति के हम, जंग को भी हमने जाना है।
सत्य कुमार प्रेमी
यही बस चाह है छोटी, मिले दो जून की रोटी।
यही बस चाह है छोटी, मिले दो जून की रोटी।
डॉ.सीमा अग्रवाल
बदलाव
बदलाव
Dr. Rajeev Jain
भारत का चाँद…
भारत का चाँद…
Anand Kumar
■ त्रिवेणी धाम : हरि और हर का मिलन स्थल
■ त्रिवेणी धाम : हरि और हर का मिलन स्थल
*Author प्रणय प्रभात*
💐💐💐💐दोहा निवेदन💐💐💐💐
💐💐💐💐दोहा निवेदन💐💐💐💐
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
सोचा ना था ऐसे भी जमाने होंगे
सोचा ना था ऐसे भी जमाने होंगे
Jitendra Chhonkar
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Neelam Sharma
*संगीत के क्षेत्र में रामपुर की भूमिका : नेमत खान सदारंग से
*संगीत के क्षेत्र में रामपुर की भूमिका : नेमत खान सदारंग से
Ravi Prakash
मंत्र: सिद्ध गंधर्व यक्षाधैसुरैरमरैरपि। सेव्यमाना सदा भूयात्
मंत्र: सिद्ध गंधर्व यक्षाधैसुरैरमरैरपि। सेव्यमाना सदा भूयात्
Harminder Kaur
नेता जी शोध लेख
नेता जी शोध लेख
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
फगुनाई मन-वाटिका,
फगुनाई मन-वाटिका,
Rashmi Sanjay
जानना उनको कहाँ है? उनके पते मिलते नहीं ,रहते  कहीं वे और है
जानना उनको कहाँ है? उनके पते मिलते नहीं ,रहते कहीं वे और है
DrLakshman Jha Parimal
मगर अब मैं शब्दों को निगलने लगा हूँ
मगर अब मैं शब्दों को निगलने लगा हूँ
VINOD CHAUHAN
धर्म बनाम धर्मान्ध
धर्म बनाम धर्मान्ध
Ramswaroop Dinkar
3480🌷 *पूर्णिका* 🌷
3480🌷 *पूर्णिका* 🌷
Dr.Khedu Bharti
हिंदी मेरी माँ
हिंदी मेरी माँ
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
हम तुमको अपने दिल में यूँ रखते हैं
हम तुमको अपने दिल में यूँ रखते हैं
Shweta Soni
Loading...