Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 Nov 2022 · 1 min read

🌸🌼उनकी किस सादगी पर हम मचलते रहे🌼🌸

##पागल##

उनकी किस सादगी पर हम मचलते रहे,
उनकी किस सादगी पर हम मचलते रहे,
दिल की गहराइयों के छोर पर,
उनके और मेरे प्रेम की डोर पर,
कुछ अलग से सितारे चमकने लगे,
मैं भी तन्हा रहा वो भी तन्हा रहे,
उनकी किस सादगी पर हम मचलते रहे।।1।।
मैंने देखा तुम्हें राह पर थी नज़र,
उससे नजरें और नज़ारे बदलते गए,
क्यों कहता तुमसे मैं अपनी बाजियाँ,
मैं चलता रहा वो भी चलते रहे,
उनकी किस सादगी पर हम मचलते रहे।।2।।
गुम तो होना है सबको, इस ज़मीन पर,
फिर फ़कत आरजू की क्यों?बात कर,
तेरे बिना कोई दर्शन मैं कैसे करूँ,
तेरी तस्वीर ही देख सिसकते रहे,
उनकी किस सादगी पर हम मचलते रहे।।3।।
मैंने देखा तुझे इक लकीर खींच दी,
उसके तौसीक़^ में दो बातें लिखीं,
न मानो लकीर, यह दिल है मेरा,
फिर क्यों तुम हे मधुर!कम धड़कते रहे,
उनकी किस सादगी पर हम मचलते रहे।।4।।

तौसीक़-दृढ़ता,समर्थन

©®अभिषेक पाराशर:

Language: Hindi
Tag: गीत
55 Views
Join our official announcements group on Whatsapp & get all the major updates from Sahityapedia directly on Whatsapp.
You may also like:
ज़ख्म सिल दो मेरा
ज़ख्म सिल दो मेरा
Surinder blackpen
उसकी आंखों से छलकता प्यार
उसकी आंखों से छलकता प्यार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
हकमारी
हकमारी
Shekhar Chandra Mitra
Rose Day 7 Feb 23
Rose Day 7 Feb 23
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
"बदलाव"
Dr. Kishan tandon kranti
ਨਾਨਕ  ਨਾਮ  ਜਹਾਜ  ਹੈ, ਸਬ  ਲਗਨੇ  ਹੈਂ  ਪਾਰ
ਨਾਨਕ ਨਾਮ ਜਹਾਜ ਹੈ, ਸਬ ਲਗਨੇ ਹੈਂ ਪਾਰ
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
सह जाऊँ हर एक परिस्थिति मैं,
सह जाऊँ हर एक परिस्थिति मैं,
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
मौसम कैसा आ गया, चहुँ दिश छाई धूल ।
मौसम कैसा आ गया, चहुँ दिश छाई धूल ।
Arvind trivedi
बड़ा मुश्किल है ये लम्हे,पल और दिन गुजारना
बड़ा मुश्किल है ये लम्हे,पल और दिन गुजारना
'अशांत' शेखर
माया का रोग (व्यंग्य)
माया का रोग (व्यंग्य)
नवीन जोशी 'नवल'
मतलब छुट्टी का हुआ, समझो है रविवार( कुंडलिया )
मतलब छुट्टी का हुआ, समझो है रविवार( कुंडलिया )
Ravi Prakash
#justareminderekabodhbalak
#justareminderekabodhbalak
DR ARUN KUMAR SHASTRI
ख्वाहिशों के कारवां में
ख्वाहिशों के कारवां में
Satish Srijan
मतिभ्रष्ट
मतिभ्रष्ट
Shyam Sundar Subramanian
💐प्रेम कौतुक-233💐
💐प्रेम कौतुक-233💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
आपाधापी व्यस्त बहुत हैं दफ़्तर  में  व्यापार में ।
आपाधापी व्यस्त बहुत हैं दफ़्तर में व्यापार में ।
सत्येन्द्र पटेल ‘प्रखर’
किस कदर है व्याकुल
किस कदर है व्याकुल
सुशील मिश्रा (क्षितिज राज)
सुरनदी_को_त्याग_पोखर_में_नहाने_जा_रहे_हैं......!!
सुरनदी_को_त्याग_पोखर_में_नहाने_जा_रहे_हैं......!!
संजीव शुक्ल 'सचिन'
वह जो रुखसत हो गई
वह जो रुखसत हो गई
श्याम सिंह बिष्ट
#आज_की_चौपाई-
#आज_की_चौपाई-
*Author प्रणय प्रभात*
कुंडलिया छंद
कुंडलिया छंद
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
विचार मंच भाग - 4
विचार मंच भाग - 4
Rohit Kaushik
असली नकली
असली नकली
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
फूलों की ख़ुशबू ही,
फूलों की ख़ुशबू ही,
Vishal babu (vishu)
तू रूठा मैं टूट गया_ हिम्मत तुमसे सारी थी।
तू रूठा मैं टूट गया_ हिम्मत तुमसे सारी थी।
Rajesh vyas
2246.🌹इंसान हूँ इंसानियत की बात करता हूँ 🌹
2246.🌹इंसान हूँ इंसानियत की बात करता हूँ 🌹
Dr.Khedu Bharti
दीवारें खड़ी करना तो इस जहां में आसान है
दीवारें खड़ी करना तो इस जहां में आसान है
Charu Mitra
तुम को पाते हैं हम जिधर जाते हैं
तुम को पाते हैं हम जिधर जाते हैं
Dr fauzia Naseem shad
बूढ़ा बरगद का पेड़ बोला (मार्मिक कविता)
बूढ़ा बरगद का पेड़ बोला (मार्मिक कविता)
Dr. Kishan Karigar
बुद्धत्व से बुद्ध है ।
बुद्धत्व से बुद्ध है ।
Buddha Prakash
Loading...