Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 Feb 2023 · 1 min read

🌷सारे सवालों का जवाब मिलता है 🌷

2203.
🌷सारे सवालों का जवाब मिलता है 🌷
2212 2212 1222
सारे सवालों का जवाब मिलता है ।
यूं बीच काँटों के गुलाब खिलता है ।।

सबकी कहानी भी अलग यहाँ होती।
अब बेवजह किसको खिताब मिलता है ।।

बेकार में जाया न वक्त कहीं करते।
जाकर तभी हमको रुआब मिलता है ।।

जीना नहीं आता किसे भला बोलों ।
घाटा नफा का भी हिसाब मिलता है ।।

ये जिंदगी तो प्यार में रहे खेदू ।
पानी जहाँ पानी शराब मिलता है ।।
……….✍प्रो .खेदू भारती “सत्येश”
14-2-2023मंगलवार
(वेलेंटाइन डे )

70 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
तुम हो तो मैं हूँ,
तुम हो तो मैं हूँ,
लक्ष्मी सिंह
कर्मण्य
कर्मण्य
Shyam Pandey
■ ख़ास दिन, ख़ास बात, नज़्म के साथ
■ ख़ास दिन, ख़ास बात, नज़्म के साथ
*Author प्रणय प्रभात*
एक एहसास
एक एहसास
Dr fauzia Naseem shad
परछाई
परछाई
डॉ प्रवीण ठाकुर
एक अणु में इतनी ऊर्जा
एक अणु में इतनी ऊर्जा
AJAY AMITABH SUMAN
कोई तो कोहरा हटा दे मेरे रास्ते का,
कोई तो कोहरा हटा दे मेरे रास्ते का,
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
व्हाट्सएप के दोस्त
व्हाट्सएप के दोस्त
DrLakshman Jha Parimal
तब घर याद आता है
तब घर याद आता है
कवि दीपक बवेजा
Tahrir kar rhe mere in choto ko ,
Tahrir kar rhe mere in choto ko ,
Sakshi Tripathi
रंग भरी एकादशी
रंग भरी एकादशी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
गाँधी जी की लाठी
गाँधी जी की लाठी
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
" मुझे सहने दो "
Aarti sirsat
💐प्रेम कौतुक-315💐
💐प्रेम कौतुक-315💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
बुलन्दी शोहरत हो कितनी,
बुलन्दी शोहरत हो कितनी,
Satish Srijan
मैथिली हाइकु / Maithili Haiku
मैथिली हाइकु / Maithili Haiku
Binit Thakur (विनीत ठाकुर)
भूख से वहां इंसा मर रहा है।
भूख से वहां इंसा मर रहा है।
Taj Mohammad
कमबख़्त 'इश़्क
कमबख़्त 'इश़्क
Shyam Sundar Subramanian
मित्रो जबतक बातें होंगी, जनमन में अभिमान की
मित्रो जबतक बातें होंगी, जनमन में अभिमान की
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
मीठा खाय जग मुआ,
मीठा खाय जग मुआ,
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
कोरे कागज़ पर लिखें अक्षर,
कोरे कागज़ पर लिखें अक्षर,
अनिल अहिरवार"अबीर"
घाट किनारे है गीत पुकारे, आजा रे ऐ मीत हमारे…
घाट किनारे है गीत पुकारे, आजा रे ऐ मीत हमारे…
Anand Kumar
मोहब्बत कर देती है इंसान को खुदा।
मोहब्बत कर देती है इंसान को खुदा।
Surinder blackpen
क्यों छोड़ गए तन्हा
क्यों छोड़ गए तन्हा
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
*टैगोर काव्य गोष्ठी* भारत जिंदाबाद लोकार्पण
*टैगोर काव्य गोष्ठी* भारत जिंदाबाद लोकार्पण
Ravi Prakash
"भीमसार"
Dushyant Kumar
उजालों में अंधेरों में, तेरा बस साथ चाहता हूँ
उजालों में अंधेरों में, तेरा बस साथ चाहता हूँ
डॉ. दीपक मेवाती
सर्वे भवन्तु सुखिन:
सर्वे भवन्तु सुखिन:
Shekhar Chandra Mitra
बच कर रहता था मैं निगाहों से
बच कर रहता था मैं निगाहों से
Shakil Alam
***
*** " हमारी इसरो शक्ति...! " ***
VEDANTA PATEL
Loading...