Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

【 23】 प्रकृति छेड़ रहा इंसान

रूह तक काँँप जाती है, सुनो सब मेरी दर्द से
काट रहे जो लोग यहाँँ, पेड़ों को गर्व से
{ 1} पैसों की लालच में, कितने अंधे हुए हैं लोग
पर्यावरण को नष्ट करने का, लगा है जिनको रोग
मिटा रहे सौंदर्य धरा का, करें नए प्रयोग
निज जीवन को बचाने फिर से, क्या होगा संयोग?
मेरा यह पैगाम है जग के, मानव सर्व से
भुलो नहीं तुम खुद को, रहो सब अपने गर्व से
रूह तक काँँप……….
{2} प्रकृति से छेड़छाड़ जो, मानव करता जायेगा
निश्चित है, वह आज नहीं तो, कल जी भर पछतायेगा
दसों दिशाओं के प्रकोप से, मानव नहीं बच पायेगा
क्या उजाड़े भूमंडल एक दिन, तू भी उजड़ ही जाएगा
फिर ना चलेगा काम किसी का, कोई भी तर्क से
मिटेगी सबकी शानो शौकत, धरती की पर्त से
रूह तक काँँप……….
{3} वातावरण में मानव विष, फैलाए शौक से
वो दिन भी आना है, स्वयं जीयेगा ख़ौफ़ से
साँँस भी ना ले पायेगा तू, झूठे रौब से
लाखों कमा भले ही तू, फरेबी जॉब से
फैले बिषैली वायु, सोया क्यों अपने फर्ज से
काँँपें प्राण सभी नके मूर्ख, लाइलाज मर्ज से
रूह तक काँँप……….
{4} पेड़ न काटो पेड़ लगाओ, पेड़ से जीवित जग सारा
पेड़ों से ही दुनियाँँभर में, बह सकती है सुख धारा
हरियाली से हरा – भरा जो, वातावरण हमारा है
हरा – भरा जग को रखेंगे, यही हम सब का नारा है
हम बदलेंगे युग बदलेगा, थोड़े से बस फ़र्क से
बरसेंगी झोली भर खुशियाँँ, अंबर के उस अर्श से
रूह तक काँँप…………
खैमसिंह सैनी 【राजस्थान】

4 Likes · 1 Comment · 435 Views
You may also like:
दाने दाने पर नाम लिखा है
Ram Krishan Rastogi
इश्क।
Taj Mohammad
सफलता की कुंजी ।
Anamika Singh
ग़ज़ल
सुरेखा कादियान 'सृजना'
इंतजार
Anamika Singh
# जज्बे सलाम ...
Chinta netam " मन "
✍️डार्क इमेज...!✍️
"अशांत" शेखर
वफा की मोहब्बत।
Taj Mohammad
इशारो ही इशारो से...😊👌
N.ksahu0007@writer
पाखंडी मानव
ओनिका सेतिया 'अनु '
स्वेद का, हर कण बताता, है जगत ,आधार तुम से।।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
कलम की वेदना (गीत)
सूरज राम आदित्य (Suraj Ram Aditya)
परदेश
DESH RAJ
निद्रा
Vikas Sharma'Shivaaya'
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
ढाई आखर प्रेम का
श्री रमण
" फ़ोटो "
Dr Meenu Poonia
समंदर की चेतावनी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मृत्यु
AMRESH KUMAR VERMA
✍️"बारिश भी अक्सर भुख छीन लेती है"✍️
"अशांत" शेखर
पैसे की महिमा
Ram Krishan Rastogi
✍️जिंदगी✍️
"अशांत" शेखर
🔥😊 तेरे प्यार ने
N.ksahu0007@writer
जिन्दगी की रफ़्तार
मनोज कर्ण
यह कैसा एहसास है
Anuj yadav
💐💐प्रेम की राह पर-20💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
हर रोज योग करो
Krishan Singh
मृत्यु डराती पल - पल
Dr.sima
गर्म साँसें,जल रहा मन / (गर्मी का नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
स्वर्गीय रईस रामपुरी और उनका काव्य-संग्रह एहसास
Ravi Prakash
Loading...