Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 Apr 2023 · 1 min read

■ आज का शेर

■ आज का शेर
अमृत और विष बाहर से ज़्यादा हमारे आपके अंदर है। अब यह हमारी अपनी सोच है कि हम किसे अपनाएं और किसे ठुकराये!
【प्रणय प्रभातG】

Language: Hindi
Tag: शेर
1 Like · 306 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
दोस्ती के नाम
दोस्ती के नाम
Dr. Rajeev Jain
कितना बदल रहे हैं हम ?
कितना बदल रहे हैं हम ?
Dr fauzia Naseem shad
सितारा कोई
सितारा कोई
shahab uddin shah kannauji
रामायण से सीखिए,
रामायण से सीखिए,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
रक्तदान
रक्तदान
Dr. Pradeep Kumar Sharma
स्वाभिमान
स्वाभिमान
अखिलेश 'अखिल'
रामराज्य
रामराज्य
कार्तिक नितिन शर्मा
भरे हृदय में पीर
भरे हृदय में पीर
विनोद वर्मा ‘दुर्गेश’
#ग़ज़ल-
#ग़ज़ल-
*प्रणय प्रभात*
अलग अलग से बोल
अलग अलग से बोल
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
"The Power of Orange"
Manisha Manjari
ऐसा कहा जाता है कि
ऐसा कहा जाता है कि
Naseeb Jinagal Koslia नसीब जीनागल कोसलिया
"यायावरी" ग़ज़ल
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
बड़ा भोला बड़ा सज्जन हूँ दीवाना मगर ऐसा
बड़ा भोला बड़ा सज्जन हूँ दीवाना मगर ऐसा
आर.एस. 'प्रीतम'
जो सब समझे वैसी ही लिखें वरना लोग अनदेखी कर देंगे!@परिमल
जो सब समझे वैसी ही लिखें वरना लोग अनदेखी कर देंगे!@परिमल
DrLakshman Jha Parimal
याद करने के लिए बस यारियां रह जाएंगी।
याद करने के लिए बस यारियां रह जाएंगी।
सत्य कुमार प्रेमी
vah kaun hai?
vah kaun hai?
ASHISH KUMAR SINGH
मेरा विचार ही व्यक्तित्व है..
मेरा विचार ही व्यक्तित्व है..
Jp yathesht
* रेल हादसा *
* रेल हादसा *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
माँ की ममता के तले, खुशियों का संसार |
माँ की ममता के तले, खुशियों का संसार |
जगदीश शर्मा सहज
-- मौत का मंजर --
-- मौत का मंजर --
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
किराये के मकानों में
किराये के मकानों में
करन ''केसरा''
हर दिल में प्यार है
हर दिल में प्यार है
Surinder blackpen
रमेशराज की कविता विषयक मुक्तछंद कविताएँ
रमेशराज की कविता विषयक मुक्तछंद कविताएँ
कवि रमेशराज
Anxiety fucking sucks.
Anxiety fucking sucks.
पूर्वार्थ
*रानी ऋतुओं की हुई, वर्षा की पहचान (कुंडलिया)*
*रानी ऋतुओं की हुई, वर्षा की पहचान (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
2326.पूर्णिका
2326.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
Thought
Thought
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
"बड़ी चुनौती ये चिन्ता"
Dr. Kishan tandon kranti
हम कोई भी कार्य करें
हम कोई भी कार्य करें
Swami Ganganiya
Loading...