Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
Jul 8, 2016 · 1 min read

ग़ज़ल

अँधेरों से अगर घबरा रहा हूँ.,
उजालों से भी धोका खा रहा हूँ,,

सुलझने का नहीं मिल पाया मौक़ा.,
मैं उल्झन में सदा उल्झा रहा हूँ,,

हज़ारों चाहने वाले हैं फिर भी.,
ज़रूरत के समय तन्हा रहा हूँ,,

हवाऐं जिस तरफ़ लाये जा रही हैं.,
उसी जानिब मैं चलता जा रहा हूँ,,

किसी का कौन होता बै जहां में.,
ये अपने आप को समझा रहा हूँ,,

तेरा मिलना तो मुमकिन ही नहीं है.,
“तेरी यादों से दिल बहला रहा हूँ”,,

लगाया था कभी सीने से जिस को.,
“सिराज” उस से ही धोखा खा रहा हूँ..!

सिराज देहलवी @ ओ.पी. अग्रवाल
०८/०७/२०१६

1 Like · 1 Comment · 305 Views
You may also like:
✍️बुरी हु मैं ✍️
Vaishnavi Gupta
दिल का यह
Dr fauzia Naseem shad
एक कतरा मोहब्बत
श्री रमण 'श्रीपद्'
ये शिक्षामित्र है भाई कि इसमें जान थोड़ी है
आकाश महेशपुरी
गाऊँ तेरी महिमा का गान (हरिशयन एकादशी विशेष)
श्री रमण 'श्रीपद्'
इश्क
Anamika Singh
मेरी तकदीर मेँ
Dr fauzia Naseem shad
!!*!! कोरोना मजबूत नहीं कमजोर है !!*!!
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
✍️बड़ी ज़िम्मेदारी है ✍️
Vaishnavi Gupta
संविदा की नौकरी का दर्द
आकाश महेशपुरी
हमसे न अब करो
Dr fauzia Naseem shad
पितृ-दिवस / (समसामायिक नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
✍️आज के युवा ✍️
Vaishnavi Gupta
कुछ नहीं इंसान को
Dr fauzia Naseem shad
मैं तो सड़क हूँ,...
मनोज कर्ण
ज़िंदगी में न ज़िंदगी देखी
Dr fauzia Naseem shad
पिता का प्रेम
Seema gupta ( bloger) Gupta
" एक हद के बाद"
rubichetanshukla रुबी चेतन शुक्ला
दहेज़
आकाश महेशपुरी
The Buddha And His Path
Buddha Prakash
मर गये ज़िंदगी को
Dr fauzia Naseem shad
जय जय भारत देश महान......
Buddha Prakash
मेरे साथी!
Anamika Singh
इस तरह
Dr fauzia Naseem shad
एक पनिहारिन की वेदना
Ram Krishan Rastogi
ख़्वाब सारे तो
Dr fauzia Naseem shad
हमको जो समझे हमीं सा ।
Dr fauzia Naseem shad
"सावन-संदेश"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
जीत कर भी जो
Dr fauzia Naseem shad
मुझको कबतक रोकोगे
Abhishek Pandey Abhi
Loading...