Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

ग़ज़ल (हर इन्सान की दुनिया में इक जैसी कहानी है )

हर लम्हा तन्हाई का एहसास मुझको होता है
जबकि दोस्तों के बीच अपनी गुज़री जिंदगानी है

क्यों अपने जिस्म में केवल ,रंगत खून की दिखती
औरों का लहू बहता , तो सबके लिए पानी है

खुद को भूल जाने की ग़लती सबने कर दी है
हर इन्सान की दुनिया में इक जैसी कहानी है

दौलत के नशे में जो अब दिन को रात कहतें हैं
हर गलती की कीमत भी, यहीं उनको चुकानी है

मदन ,वक़्त की रफ़्तार का कुछ भी भरोसा है नहीं
किसको जीत मिल जाये, किसको हार पानी है

सल्तनत ख्वाबों की मिल जाये तो अपने लिए बेहतर है
दौलत आज है तो क्या , आखिर कल तो जानी है

ग़ज़ल (हर इन्सान की दुनिया में इक जैसी कहानी है )
मदन मोहन सक्सेना

111 Views
You may also like:
जीवन-रथ के सारथि_पिता
मनोज कर्ण
गम आ मिले।
Taj Mohammad
शृंगार छंद और विधाएं
Subhash Singhai
विश्व पृथ्वी दिवस
Dr Archana Gupta
अरदास
Vikas Sharma'Shivaaya'
वृक्ष थे छायादार पिताजी
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
वो दिन भी बहुत खूबसूरत थे
Krishan Singh
अजब कहानी है।
Taj Mohammad
जंगल में कवि सम्मेलन
मनोज कर्ण
फुर्तीला घोड़ा
Buddha Prakash
गर हमको पता होता।
Taj Mohammad
✍️मुझे कातिब बनाया✍️
"अशांत" शेखर
अपने मन की मान
जगदीश लववंशी
स्वर्गीय रईस रामपुरी और उनका काव्य-संग्रह एहसास
Ravi Prakash
गांव के घर में।
Taj Mohammad
ऐ ...तो जिंदगी हैंं...!!!!
Dr. Alpa H. Amin
गुरु तुम क्या हो यार !
jaswant Lakhara
🌻🌻🌸"इतना क्यों बहका रहे हो,अपने अन्दाज पर"🌻🌻🌸
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
पैसों की भूख
AMRESH KUMAR VERMA
वीर विनायक दामोदर सावरकर जिंदाबाद( गीत )
Ravi Prakash
!¡! बेखबर इंसान !¡!
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
अहसास
Vikas Sharma'Shivaaya'
*मेरे देश का सैनिक*
Prabhudayal Raniwal
तुम्हारे हाथों में।
Taj Mohammad
अगर ज़रा भी हो इश्क मुझसे, मुझे नज़र से दिखा...
सत्य कुमार प्रेमी
💐नाशवान् इच्छा एव पापस्य कारणं अविनाशी न💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मदिरा और मैं
Sidhant Sharma
🌺🌺प्रेम की राह पर-47🌺🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
विदाई की घड़ी आ गई है,,,
Taj Mohammad
*!* अपनी यारी बेमिसाल *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
Loading...