Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

ग़ज़ल ( दिल की बातें)

ग़ज़ल ( दिल की बातें)

जिनका प्यार पाने में हमको ज़माने लगे
बह अब नजरें मिला के मुस्कराने लगे

राज दिल का कभी जो छिपाते थे हमसे
बातें दिल की हमें बह बताने लगे

अपना बनाने को सोचा था जिनको
बह अपना हमें अब बनाने लगे

जिनको देखे बिना आँखे रहती थी प्यासी
बह अब नजरों से हमको पिलाने लगे

जब जब देखा उन्हें उनसे नजरें मिली
गीत हमसे खुद ब खुद बन जाने लगे

प्यार पाकर के जबसे प्यारी दुनिया रचाई
क्यों हम दुनिया को तब से भुलाने लगे

गीत ग़ज़ल जिसने भी मेरे देखे या सुने
तब से शायर बह हमको बताने लगे

हाल देखा मेरा तो दुनिया बाले ये बोले
मदन हमको तो दुनिया से बेगाने लगे

ग़ज़ल ( दिल की बातें)
मदन मोहन सक्सेना

218 Views
You may also like:
✍️एक आफ़ताब ही काफी है✍️
"अशांत" शेखर
✍️थोड़ी मजाकियां✍️
"अशांत" शेखर
"शादी की वर्षगांठ"
rubichetanshukla रुबी चेतन शुक्ला
मित्र
Vijaykumar Gundal
पैसा
Arjun Chauhan
चम्पा पुष्प से भ्रमर क्यों दूर रहता है
Subhash Singhai
जाको राखे साईयाँ मार सके न कोय
Anamika Singh
कहां चला अरे उड़ कर पंछी
VINOD KUMAR CHAUHAN
बंद हैं भारत में विद्यालय.
Pt. Brajesh Kumar Nayak
पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी, एक सच्चे इंसान थे
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
नमन!
Shriyansh Gupta
✍️पिता:एक किरण✍️
"अशांत" शेखर
Save the forest.
Buddha Prakash
मौत ने की हमसे साज़िश।
Taj Mohammad
पहले दिन स्कूल (बाल कविता)
Ravi Prakash
वार्तालाप….
Piyush Goel
चंदा मामा बाल कविता
Ram Krishan Rastogi
गांव का भोलापन ना रह गया है।
Taj Mohammad
'परिवर्तन'
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
सार संभार
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
ग्रहण
ओनिका सेतिया 'अनु '
जय जगजननी ! मातु भवानी(भगवती गीत)
मनोज कर्ण
बुढ़ापे में जीने के गुरु मंत्र
Ram Krishan Rastogi
हो दर्दे दिल तो हाले दिल सुनाया भी नहीं जाता।
सत्य कुमार प्रेमी
चुप ही रहेंगे...?
मनोज कर्ण
*!* अपनी यारी बेमिसाल *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
कन्यादान लिखना भी कहानी हो गई
VINOD KUMAR CHAUHAN
ख्वाब रंगीला कोई बुना ही नहीं ।
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
अब तो दर्शन दे दो गिरधर...
Dr. Alpa H. Amin
तुम कहते हो।
Taj Mohammad
Loading...