Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
28 Jun 2016 · 1 min read

ख़्याल होता नही ख़्याल का, कौन सा लिखना है!

ख़्याल होता नही ख़्याल का, कौन सा लिखना है!
हाल होता नही हाल का, कौन सा लिखना है!
बस झुक जाता है सर, जब क़लम उठती है!
ज़बाब होता है हर सवाल का, कौन सा लिखना है!

Language: Hindi
Tag: शेर
131 Views
You may also like:
मंजिल की उड़ान
AMRESH KUMAR VERMA
सुनो
shabina. Naaz
कविनामी दोहे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
प्रेम
लक्ष्मी सिंह
मोहब्बत का गम है।
Taj Mohammad
जालिम कोरोना
Dr Meenu Poonia
ऐतबार नहीं करना!
Mahesh Ojha
★ जो मज़ा तेरी कातिल नजरों के नजारों में है।...
★ IPS KAMAL THAKUR ★
मकड़ी है कमाल
Buddha Prakash
हिम्मत से हौसलों की, वो उड़ान बन गया।
Manisha Manjari
पूनम की रात हो,पिया मेरे साथ हो
Ram Krishan Rastogi
बेजुबान
Dhirendra Panchal
देवदासियां
Shekhar Chandra Mitra
ज़िंदगी पर लिखी शायरी
Dr fauzia Naseem shad
अंजाम ए जिंदगी
ओनिका सेतिया 'अनु '
शायरी
श्याम सिंह बिष्ट
'निशा नशीली'
Godambari Negi
परखने पर मिलेगी खामियां
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
✍️संस्कृती के कठोर रक्षाकवच...
'अशांत' शेखर
बावरी बातें
Rashmi Sanjay
*झूठी हैं दुनियादारियाँ सारी(गीत)*
Ravi Prakash
समीक्षा सॉनेट संग्रह
Pakhi Jain
परम प्रकाश उत्सव कार्तिक मास
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
हर फौजी की कहानी
Dalveer Singh
ऐसा है संविधान हमारा
gurudeenverma198
जगत का जंजाल-संसृति
Shivraj Anand
ग़ज़ल
Awadhesh Saxena
अब नही छल सकते हो
Anamika Singh
कब बरसोगें
Swami Ganganiya
माँ
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
Loading...