Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings

हो जीवन मधुमास

नभ के नवरंग जैसा ज़िंदगी हो सुनहरी
खुशियों की बौछारे हो हर सांझ सवेरा
स्वप्नों सा स्वर्निम ज़िंदगी,हो चाँदनी निशा
तेरी धानी चुनरियाँ खुशियों का है बसेरा

रहे विमल मन, रहे सदा पुलकित ज़िन्दगानी
तू सुरमई शाम दीवानी, तू फूलों की रानी
बहे प्रेम की नदिया, जले प्रेम की ज्योति
बरसे आँगन में मधु की बुंदे झीनी झीनी

उन्हे मिले नई उमंगे ,हो जीवन मधुमास
माँगू रब से दुआ यहीं तू रहे मीत सदा
राह में खिले तेरी जूही,चम्पा, चमेली
तेरे आँगन रहे गुलज़ार न हो कभी खज़ा

आ रही पूर्वइयाँ ,छा रही है बदरिया
रेशम जुल्फें उडे मिल जाये तुझे सावरिया
मन तेरा मधुबन लगे कंचन तेरी काया
बन जा कान्हा की तू दीवानी हरिप्रिया

खिड़की से झाँके ज़िंदगी सात रंगो का इंद्रधनुष
घर-आँगन को आलोकित करे ज्योति हर संध्या
ये कुदरत जन्म दिन पर उसे दे कोई हँसी तोहफ़ा
दुष्यंत की लेखनी तेरी सूरत की क्या करे बयाँ

160 Views
You may also like:
किरदार
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
बेरूखी
Anamika Singh
पिता का पता
श्री रमण 'श्रीपद्'
हमनें ख़्वाबों को देखना छोड़ा
Dr fauzia Naseem shad
क्या ज़रूरत थी
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
असफ़लताओं के गाँव में, कोशिशों का कारवां सफ़ल होता है।
Manisha Manjari
रफ्तार
Anamika Singh
पिता
Shankar J aanjna
बहुत प्यार करता हूं तुमको
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
क्यों हो गए हम बड़े
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
हम सब एक है।
Anamika Singh
विन मानवीय मूल्यों के जीवन का क्या अर्थ है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
कैसे गाऊँ गीत मैं, खोया मेरा प्यार
Dr Archana Gupta
"पिता की क्षमता"
पंकज कुमार कर्ण
बुद्ध या बुद्धू
Priya Maithil
माँ, हर बचपन का भगवान
Pt. Brajesh Kumar Nayak
कोई हमदर्द हो गरीबी का
Dr fauzia Naseem shad
हर एक रिश्ता निभाता पिता है –गीतिका
रकमिश सुल्तानपुरी
और जीना चाहता हूं मैं
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
बरसाती कुण्डलिया नवमी
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
जय जगजननी ! मातु भवानी(भगवती गीत)
मनोज कर्ण
बेचारी ये जनता
शेख़ जाफ़र खान
गुरुजी!
Vishnu Prasad 'panchotiya'
पिता
Manisha Manjari
पिता की याद
Meenakshi Nagar
"अष्टांग योग"
पंकज कुमार कर्ण
【34】*!!* आग दबाये मत रखिये *!!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
प्यार में तुम्हें ईश्वर बना लूँ, वह मैं नहीं हूँ
Anamika Singh
काश बचपन लौट आता
Anamika Singh
ठोकरों ने गिराया ऐसा, कि चलना सीखा दिया।
Manisha Manjari
Loading...