Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 May 2018 · 1 min read

हो गया सवेरा कई काम निकल आयेंगे तुम्हे नज़र खोजेंगी फिर शाम निकल जाएगी….

हो गया सवेरा कई काम निकल आयेंगे
तुम्हे नज़र खोजेंगी फिर शाम निकल जाएगी

कहां फुरसत की बनो सिर्फ मकसद
तुम्हे सोचने में ऐसे ही फिर रात निकल जाएगी

अब पता चलता है,कैसे हो कहा हो तुम्हारी हर बात लेकिन मालूम कहां होती है

मैं भी ठीक हूं,अच्छा हूं, दुःख इतना कि याद हो तुम,
लेकिन कहां किससे कहे कि इतने से जान निकल जाएगी।

Language: Hindi
619 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
यूएफओ के रहस्य का अनावरण एवं उन्नत परालोक सभ्यता की संभावनाओं की खोज
यूएफओ के रहस्य का अनावरण एवं उन्नत परालोक सभ्यता की संभावनाओं की खोज
Shyam Sundar Subramanian
तिमिर घनेरा बिछा चतुर्दिक्रं,चमात्र इंजोर नहीं है
तिमिर घनेरा बिछा चतुर्दिक्रं,चमात्र इंजोर नहीं है
पूर्वार्थ
नागिन
नागिन
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
फुटपाथ की ठंड
फुटपाथ की ठंड
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
संवेदनहीनता
संवेदनहीनता
संजीव शुक्ल 'सचिन'
प्यार का पंचनामा
प्यार का पंचनामा
Dr Parveen Thakur
खुशियों की सौगात
खुशियों की सौगात
DR ARUN KUMAR SHASTRI
वतन के लिए
वतन के लिए
नूरफातिमा खातून नूरी
यह तुम्हारी नफरत ही दुश्मन है तुम्हारी
यह तुम्हारी नफरत ही दुश्मन है तुम्हारी
gurudeenverma198
42...Mutdaarik musamman saalim
42...Mutdaarik musamman saalim
sushil yadav
आज की सौगात जो बख्शी प्रभु ने है तुझे
आज की सौगात जो बख्शी प्रभु ने है तुझे
Saraswati Bajpai
शिक्षक दिवस पर गुरुवृंद जनों को समर्पित
शिक्षक दिवस पर गुरुवृंद जनों को समर्पित
Lokesh Sharma
एहसास कभी ख़त्म नही होते ,
एहसास कभी ख़त्म नही होते ,
शेखर सिंह
हम अपनों से न करें उम्मीद ,
हम अपनों से न करें उम्मीद ,
ओनिका सेतिया 'अनु '
ॐ
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
3290.*पूर्णिका*
3290.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
होता ओझल जा रहा, देखा हुआ अतीत (कुंडलिया)
होता ओझल जा रहा, देखा हुआ अतीत (कुंडलिया)
Ravi Prakash
*ये आती और जाती सांसें*
*ये आती और जाती सांसें*
sudhir kumar
“WHOM SHOULD WE MAKE OUR FACEBOOK FRIEND?”
“WHOM SHOULD WE MAKE OUR FACEBOOK FRIEND?”
DrLakshman Jha Parimal
स्त्री चेतन
स्त्री चेतन
Astuti Kumari
"नैतिकता"
Dr. Kishan tandon kranti
होरी खेलन आयेनहीं नन्दलाल
होरी खेलन आयेनहीं नन्दलाल
Bodhisatva kastooriya
*📌 पिन सारे कागज़ को*
*📌 पिन सारे कागज़ को*
Santosh Shrivastava
सियासत
सियासत "झूठ" की
*प्रणय प्रभात*
चांद सितारों सी मेरी दुल्हन
चांद सितारों सी मेरी दुल्हन
Mangilal 713
Unrequited
Unrequited
Vedha Singh
डॉक्टर
डॉक्टर
शालिनी राय 'डिम्पल'✍️
शाकाहारी
शाकाहारी
डिजेन्द्र कुर्रे
"वो प्रेमिका बन जाती है"
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
गुलदानों में आजकल,
गुलदानों में आजकल,
sushil sarna
Loading...