Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 Nov 2023 · 1 min read

हो गया जो दीदार तेरा, अब क्या चाहे यह दिल मेरा…!!!

हो गया जो दीदार तेरा, अब क्या चाहे यह दिल मेरा…!!!
तू ही तू है हर तरफ़ मेरे, मिला जो तू तो सवर गया यह जीवन मेरा…!!!!

260 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
कब मरा रावण
कब मरा रावण
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
चारु कात देख दुनियाँ के सोचि रहल छी ठाड़ भेल ,की छल की भऽ गेल
चारु कात देख दुनियाँ के सोचि रहल छी ठाड़ भेल ,की छल की भऽ गेल
DrLakshman Jha Parimal
★संघर्ष जीवन का★
★संघर्ष जीवन का★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
माँ शारदे
माँ शारदे
Bodhisatva kastooriya
हिंदुस्तानी है हम सारे
हिंदुस्तानी है हम सारे
Manjhii Masti
शाम उषा की लाली
शाम उषा की लाली
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
.
.
Amulyaa Ratan
Jis waqt dono waqt mile
Jis waqt dono waqt mile
shabina. Naaz
मां चंद्रघंटा
मां चंद्रघंटा
Mukesh Kumar Sonkar
जिंदगी में सिर्फ हम ,
जिंदगी में सिर्फ हम ,
Neeraj Agarwal
Struggle to conserve natural resources
Struggle to conserve natural resources
Desert fellow Rakesh
रससिद्धान्त मूलतः अर्थसिद्धान्त पर आधारित
रससिद्धान्त मूलतः अर्थसिद्धान्त पर आधारित
कवि रमेशराज
आवाजें
आवाजें
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
"मोहब्बत में"
Dr. Kishan tandon kranti
गम खास होते हैं
गम खास होते हैं
ruby kumari
गजब है उनकी सादगी
गजब है उनकी सादगी
sushil sarna
इश्क की पहली शर्त
इश्क की पहली शर्त
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
जितने चंचल है कान्हा
जितने चंचल है कान्हा
Harminder Kaur
*चलते रहे जो थाम, मर्यादा-ध्वजा अविराम हैं (मुक्तक)*
*चलते रहे जो थाम, मर्यादा-ध्वजा अविराम हैं (मुक्तक)*
Ravi Prakash
दूर क्षितिज के पार
दूर क्षितिज के पार
लक्ष्मी सिंह
बधाई हो बधाई, नये साल की बधाई
बधाई हो बधाई, नये साल की बधाई
gurudeenverma198
न रोजी न रोटी, हैं जीने के लाले।
न रोजी न रोटी, हैं जीने के लाले।
सत्य कुमार प्रेमी
दोगला चेहरा
दोगला चेहरा
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
!! ये सच है कि !!
!! ये सच है कि !!
Chunnu Lal Gupta
चंद तारे
चंद तारे
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
वीणा का तार 'मध्यम मार्ग '
वीणा का तार 'मध्यम मार्ग '
Buddha Prakash
প্রফুল্ল হৃদয় এবং হাস্যোজ্জ্বল চেহারা
প্রফুল্ল হৃদয় এবং হাস্যোজ্জ্বল চেহারা
Sakhawat Jisan
कुछ लिखा हैं तुम्हारे लिए, तुम सुन पाओगी क्या
कुछ लिखा हैं तुम्हारे लिए, तुम सुन पाओगी क्या
Writer_ermkumar
युवराज की बारात
युवराज की बारात
*Author प्रणय प्रभात*
श्रम कम होने न देना _
श्रम कम होने न देना _
Rajesh vyas
Loading...