Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 Feb 2022 · 1 min read

हे मां वर दे

हे मां सरस्वती वर दे
विद्या से भूषित होकर
बुद्धि विकसित हो जाए
गुरू से पा के ज्ञान
मन की शुद्धी हो जाए
हे मां वीणावादिनी वर दे

वाणी मर्यादित रहे
नेत्र न देखें विकार
मन संयमित रहे
आयें पवित्र विचार
हे मां शारदे वर दे

हाथ लगें सद्कर्म मे
पैर करें तीर्थाटन
मन न दुखे किसी का
रहें प्रसन्न सभी जन
हे मां हंसवाहिनी वर दे

करूं सृजन मनभावन
बोलूं मीठी वाणी
पनपे प्रेम सभी के हित
सर्वदा आशीषें ज्ञानी
हे मां शुभ्रवस्त्रावता वर दे

बसंत पंचमी पर्व
धरा धन धान्य पूर्ण कर दे
वस्त्र बसंती पीताम्बर
मन को भी बासंती कर दे
हे मां श्वेत कमलासना वर दे

मौलिक
स्वरचित
सर्वाधिकार सुरक्षित
अश्वनी कुमार जायसवाल कानपुर

के बी राइटर्स साहित्यिक मंच द्वारा आयोजित प्रतियोगिता हेतु निर्णायक मंडल डा नीलिमा रंजन भोपाल, डा अमरेन्द्र कुमार वर्मा बाराबंकी एवं डा मीनू सिन्हा धनबाद द्वारा पुरस्कृत

Language: Hindi
2 Likes · 2 Comments · 226 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ashwani Kumar Jaiswal
View all
You may also like:
बेटी परायो धन बताये, पिहर सु ससुराल मे पति थम्माये।
बेटी परायो धन बताये, पिहर सु ससुराल मे पति थम्माये।
Anil chobisa
"पैमाना"
Dr. Kishan tandon kranti
#पर्व_का_सार
#पर्व_का_सार
*Author प्रणय प्रभात*
शमा से...!!!
शमा से...!!!
Kanchan Khanna
समझ
समझ
Dinesh Kumar Gangwar
बाबा केदारनाथ जी
बाबा केदारनाथ जी
Bodhisatva kastooriya
*नयनों में तुम बस गए, रामलला अभिराम (गीत)*
*नयनों में तुम बस गए, रामलला अभिराम (गीत)*
Ravi Prakash
"सफलता कुछ करने या कुछ पाने में नहीं बल्कि अपनी सम्भावनाओं क
पूर्वार्थ
नहीं खुशियां नहीं गम यार होता।
नहीं खुशियां नहीं गम यार होता।
सत्य कुमार प्रेमी
मातु काल रात्रि
मातु काल रात्रि
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
नया दिन
नया दिन
Vandna Thakur
ज़िंदगी मो'तबर
ज़िंदगी मो'तबर
Dr fauzia Naseem shad
चेहरे के पीछे चेहरा और उस चेहरे पर भी नकाब है।
चेहरे के पीछे चेहरा और उस चेहरे पर भी नकाब है।
सिद्धार्थ गोरखपुरी
पल पल का अस्तित्व
पल पल का अस्तित्व
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
*ट्रक का ज्ञान*
*ट्रक का ज्ञान*
Dr. Priya Gupta
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Phool gufran
ज़िंदगी चाँद सा नहीं करना
ज़िंदगी चाँद सा नहीं करना
Shweta Soni
ॐ
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
मारुति मं बालम जी मनैं
मारुति मं बालम जी मनैं
gurudeenverma198
राम ने कहा
राम ने कहा
Shashi Mahajan
नौकरी
नौकरी
Rajendra Kushwaha
*
*"ममता"* पार्ट-4
Radhakishan R. Mundhra
🌷 सावन तभी सुहावन लागे 🌷
🌷 सावन तभी सुहावन लागे 🌷
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
कुछ पल अपने लिए
कुछ पल अपने लिए
Mukesh Kumar Sonkar
2326.पूर्णिका
2326.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
मौन संवाद
मौन संवाद
Ramswaroop Dinkar
सागर की ओर
सागर की ओर
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
सविधान दिवस
सविधान दिवस
Ranjeet kumar patre
बचपन -- फिर से ???
बचपन -- फिर से ???
Manju Singh
उसकी दोस्ती में
उसकी दोस्ती में
Satish Srijan
Loading...