Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 Feb 2023 · 1 min read

हां मुझे प्यार हुआ जाता है

जीना दुश्वार हुआ जाता है ।
शायद मुझे प्यार हुआ जाता है।

जबसे देखा है तुमको सनम
दिल बेकरार हुआ जाता है।

इश्क़ में तेरे हम ऐसे डूबे
पानी सर के पार हुआ जाता है।

आंखों से सनम ऐसी पिलाई
मौसम खुशगवार हुआ जाता है।

मुड़ मुड़ कर देखना तेरा मुझे
दिल तेरा भी गिरफ्तार हुआ जाता है।

सुरिंदर कौर

Language: Hindi
1 Like · 156 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Surinder blackpen
View all
You may also like:
21-हिंदी दोहा दिवस , विषय-  उँगली   / अँगुली
21-हिंदी दोहा दिवस , विषय- उँगली / अँगुली
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
मुश्किलों में उम्मीद यूँ मुस्कराती है
मुश्किलों में उम्मीद यूँ मुस्कराती है
VINOD CHAUHAN
सीरिया रानी
सीरिया रानी
Dr. Mulla Adam Ali
*देकर ज्ञान गुरुजी हमको जीवन में तुम तार दो*
*देकर ज्ञान गुरुजी हमको जीवन में तुम तार दो*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
रिश्ते
रिश्ते
Ram Krishan Rastogi
राज्यतिलक तैयारी
राज्यतिलक तैयारी
Neeraj Mishra " नीर "
फुर्सत नहीं है
फुर्सत नहीं है
Dr. Rajeev Jain
आपके आसपास
आपके आसपास
Dr.Rashmi Mishra
कहीं फूलों के किस्से हैं कहीं काँटों के किस्से हैं
कहीं फूलों के किस्से हैं कहीं काँटों के किस्से हैं
Mahendra Narayan
प्यार भी खार हो तो प्यार की जरूरत क्या है।
प्यार भी खार हो तो प्यार की जरूरत क्या है।
सत्य कुमार प्रेमी
रक्षा -बंधन
रक्षा -बंधन
Swami Ganganiya
#आलेख-
#आलेख-
*Author प्रणय प्रभात*
दोहा
दोहा
गुमनाम 'बाबा'
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
मिताइ।
मिताइ।
Acharya Rama Nand Mandal
किसी का खौफ नहीं, मन में..
किसी का खौफ नहीं, मन में..
अरशद रसूल बदायूंनी
और भी शौक है लेकिन, इश्क तुम नहीं करो
और भी शौक है लेकिन, इश्क तुम नहीं करो
gurudeenverma198
योग का एक विधान
योग का एक विधान
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
"बोलती आँखें"
पंकज कुमार कर्ण
मेरी आंखों का
मेरी आंखों का
Dr fauzia Naseem shad
रिश्ते चंदन की तरह
रिश्ते चंदन की तरह
Shubham Pandey (S P)
तो मेरा नाम नही//
तो मेरा नाम नही//
गुप्तरत्न
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
2675.*पूर्णिका*
2675.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
अच्छी लगती धर्मगंदी/धर्मगंधी पंक्ति : ’
अच्छी लगती धर्मगंदी/धर्मगंधी पंक्ति : ’
Dr MusafiR BaithA
आंखों की भाषा
आंखों की भाषा
Mukesh Kumar Sonkar
शायरी 2
शायरी 2
SURYA PRAKASH SHARMA
कृष्ण सुदामा मित्रता,
कृष्ण सुदामा मित्रता,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
"सेहत का राज"
Dr. Kishan tandon kranti
ना आप.. ना मैं...
ना आप.. ना मैं...
'अशांत' शेखर
Loading...