Sep 15, 2016 · 1 min read

‘हमारी मातृभाषा हिंदी’

स्नेह में पगी हमारी मातृभाषा हिंदी
साहित्य सर्जन, कला,संस्कृति,
सौंदर्य की परिभाषा हिंदी

रिश्तों की अभिव्यक्ति,
प्यार की स्वीकारोक्ति हिंदी
खुशियों की अनुगूंज,
संवेदनाओं का पुंज हिंदी
साहस की गर्जना हिंदी,
ह्रदय में अनुकंपित भावों की सर्जना हिंदी

वासी -अप्रवासी ह्रदयों को मिलाती हिंदी
विश्वपटल पर नए आयाम रचती हिंदी
कंप्यूटर पर नए रूप दिखाती हिंदी

अलंकारों,छंदों,समासों से सुसज्जित हिंदी
प्रवाही, सुसंस्कृत,सारगर्भित हिंदी
सदियों से मानसपटल पर अंकित हिंदी

वेदों की भाषा संस्कृत से जन्मित हिंदी
सप्त्सुरों से झंकृत हिंदी
भारत की आन है हिंदी

हमारा स्वाभिमान है हिंदी
भारतीयता की शाश्वत पहचान है हिंदी,
राष्ट्रीयता का अमिट गान है हिंदी
भारत माँ के मस्तक की झिलमिलाती बिंदी,
हमारी मातृभाषा हिंदी
अनुपमा श्रीवास्तव (अनु श्री), भोपाल

2 Likes · 2 Comments · 1360 Views
You may also like:
तुम जिंदगी जीते हो।
Taj Mohammad
♡ चाय की तलब ♡
Dr. Alpa H.
इशारो ही इशारो से...😊👌
N.ksahu0007@writer
प्रेरक संस्मरण
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
मेरे पापा!
Anamika Singh
दोस्त जीवन में एक सच्चा दोस्त ज़रूर कमाना….
Piyush Goel
रावण का मकसद, मेरी कल्पना
Anamika Singh
हमारे पापा
पाण्डेय चिदानन्द
राम
Saraswati Bajpai
सच
Vikas Sharma'Shivaaya'
पिता:सम्पूर्ण ब्रह्मांड
Jyoti Khari
जीवन-दाता
Prabhudayal Raniwal
मां-बाप
Taj Mohammad
हाल ए इश्क।
Taj Mohammad
🌻🌻🌸"इतना क्यों बहका रहे हो,अपने अन्दाज पर"🌻🌻🌸
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
फूल
Alok Saxena
पिता
कुमार अविनाश केसर
मां
Umender kumar
हे राम! तुम लौट आओ ना,,!
ओनिका सेतिया 'अनु '
चिड़िया रानी
Buddha Prakash
मैं मजदूर हूँ!
Anamika Singh
सच्चा प्यार
Anamika Singh
तेरा मेरा नाता
Alok Saxena
नेकी कर इंटरनेट पर डाल
हरीश सुवासिया
शायरी ने बर्बाद कर दिया |
Dheerendra Panchal
पानी का दर्द
Anamika Singh
जानें किसकी तलाश है।
Taj Mohammad
देखो! पप्पू पास हो गया
संजीव शुक्ल 'सचिन'
💐💐प्रेम की राह पर-14💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
तुझे अपने दिल में बसाना चाहती हूं
Ram Krishan Rastogi
Loading...