हमको लड़ना होगा—कविता— डी. के. निवातियाँ

हमको लड़ना होगा ……..

बिगड़े हुए हालातो से डटकर हमको लड़ना होगा
समझ के वक़्त की चाल अब हमको चलना होगा !!

कब तक बहेगा रक्त वीरो का
खेल खून का अब थमना होगा
जागो यारो इस देश के प्यारो
सच्चाई को अब समझना होगा !

बिगड़े हुए हालातो से डटकर हमको लड़ना होगा
समझ के वक़्त की चाल अब हमको चलना होगा !!

हिन्दू , मुस्लिम सिख, ईसाई
धर्म से आगे हमको बढ़ना होगा
भुलाकर जात-धर्म की नीति
इंसानियत के लिए लड़ना होगा !

बिगड़े हुए हालातो से डटकर हमको लड़ना होगा
समझ के वक़्त की चाल अब हमको चलना होगा !!

आतंकवाद का कोई धर्म नही
इस बात को जहन में बिठाना होगा
दरिंदगी ये अभिशाप समाज की
इस बुराई को जड़ से मिटाना होगा !

बिगड़े हुए हालातो से डटकर हमको लड़ना होगा
समझ के वक़्त की चाल अब हमको चलना होगा !!

राजनीतिको से अब जनता त्रस्त है
व्यवस्था भी सारी अस्त- व्यस्त है
भ्र्ष्टाचार का हुआ हर और बोल बाला
इस कूतंत्र से मिलकर अब लड़ना होगा !

बिगड़े हुए हालातो से डटकर हमको लड़ना होगा
समझ के वक़्त की चाल अब हमको चलना होगा !!

बदल रहा है अब वक़्त धीरे – धीरे
नारी भी चलने लगी अब कन्धा देने
खेल, शिक्षा से लेकर हो सैनिक सेवाएं
हर क्षेत्र में उनका होसला बढ़ाना होगा !

बिगड़े हुए हालातो से डटकर हमको लड़ना होगा
समझ के वक़्त की चाल अब हमको चलना होगा !!

बहुत हुआ अपमान वीरो का,
शेरो ने जान बहुत गवाई है
हर किसान, और हर जवान को
अब देश का भार उठाना होगा!

बिगड़े हुए हालातो से डटकर हमको लड़ना होगा
समझ के वक़्त की चाल अब हमको चलना होगा !!

अब तो न हो कोई नारी अपमानित
अब न कोई गरीब का मजाक उड़ाये
चलो,उठो अब शिक्षा का अलख जगाओ
हर एक बुराई को समाज से मिटाना होगा !

बिगड़े हुए हालातो से डटकर हमको लड़ना होगा
समझ के वक़्त की चाल अब हमको चलना होगा !!
!
!
!
@@@___डी. के. निवातियाँ ____@@@

321 Views
You may also like:
दिल टूट करके।
Taj Mohammad
श्रीराम
सुरेखा कादियान 'सृजना'
अप्सरा
Nafa writer
यादों की गठरी
Dr. Arti 'Lokesh' Goel
पिता का साथ जीत है।
Taj Mohammad
अभी बाकी है
Lamhe zindagi ke by Pooja bharadawaj
राम ! तुम घट-घट वासी
Saraswati Bajpai
चाँद छोड़ आई थी ...
Princu Thakur "usha"
"भोर"
Ajit Kumar "Karn"
खेतों की मेड़ , खेतों का जीवन
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
श्रमिक जो हूँ मैं तो...
मनोज कर्ण
मन की मुराद
मनोज कर्ण
प्रेमिका.. मेरी प्रेयसी....
Sapna K S
//स्वागत है:२०२२//
Prabhudayal Raniwal
भाग्य का फेर
ओनिका सेतिया 'अनु '
हमारी जां।
Taj Mohammad
विश्व पुस्तक दिवस
Rohit yadav
💐प्रेम की राह पर-27💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
भाग्य की तख्ती
Deepali Kalra
"जीवन"
Archana Shukla "Abhidha"
हे परम पिता परमेश्वर, जग को बनाने वाले
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
बदलती परम्परा
Anamika Singh
ग़ज़ल- कहां खो गये- राना लिधौरी
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
*जिंदगी को वह गढ़ेंगे ,जो प्रलय को रोकते हैं*( गीत...
Ravi Prakash
हक़ीक़त
अंजनीत निज्जर
ग़ज़ल
सुरेखा कादियान 'सृजना'
यकीन
Vikas Sharma'Shivaaya'
पिता का महत्व
ओनिका सेतिया 'अनु '
बांस का चावल
सिद्धार्थ गोरखपुरी
मुझे चाहत हैं तेरी.....
Dr. Alpa H.
Loading...