Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
20 Feb 2024 · 1 min read

स्वाधीनता के घाम से।

शुभ-सु हिंदुस्तान हूॅं, देखो मुझे आराम से।
गुलामीं के निशाॅं, दर्दीले जवाॅं पैगाम से।
घाव गहरे दिए पर मुस्कान का आलोक गह।
प्रकाशित हो मिल गया स्वाधीनता के घाम से।

पं बृजेश कुमार नायक

115 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Pt. Brajesh Kumar Nayak
View all
You may also like:
किस जरूरत को दबाऊ किस को पूरा कर लू
किस जरूरत को दबाऊ किस को पूरा कर लू
शेखर सिंह
महिलाएं जितना तेजी से रो सकती है उतना ही तेजी से अपने भावनाओ
महिलाएं जितना तेजी से रो सकती है उतना ही तेजी से अपने भावनाओ
Rj Anand Prajapati
#आज_का_दोहा
#आज_का_दोहा
संजीव शुक्ल 'सचिन'
अमृत वचन
अमृत वचन
Dinesh Kumar Gangwar
बेरोजगारी।
बेरोजगारी।
Anil Mishra Prahari
हाथों में गुलाब🌹🌹
हाथों में गुलाब🌹🌹
Chunnu Lal Gupta
शाहकार (महान कलाकृति)
शाहकार (महान कलाकृति)
Shekhar Chandra Mitra
जीवन साथी ओ मेरे यार
जीवन साथी ओ मेरे यार
gurudeenverma198
सत्य ही सनाान है , सार्वभौमिक
सत्य ही सनाान है , सार्वभौमिक
Leena Anand
*संपूर्ण रामचरितमानस का पाठ/ दैनिक रिपोर्ट*
*संपूर्ण रामचरितमानस का पाठ/ दैनिक रिपोर्ट*
Ravi Prakash
"बहुत है"
Dr. Kishan tandon kranti
ईश्वर नाम रख लेने से, तुम ईश्वर ना हो जाओगे,
ईश्वर नाम रख लेने से, तुम ईश्वर ना हो जाओगे,
Anand Kumar
प्रेमी चील सरीखे होते हैं ;
प्रेमी चील सरीखे होते हैं ;
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
मन से उतरे लोग दाग धब्बों की तरह होते हैं
मन से उतरे लोग दाग धब्बों की तरह होते हैं
ruby kumari
अपने वजूद की
अपने वजूद की
Dr fauzia Naseem shad
अरर मरर के झोपरा / MUSAFIR BAITHA
अरर मरर के झोपरा / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
कवि की कल्पना
कवि की कल्पना
Rekha Drolia
जो समझदारी से जीता है, वह जीत होती है।
जो समझदारी से जीता है, वह जीत होती है।
Sidhartha Mishra
जिंदगी की खोज
जिंदगी की खोज
CA Amit Kumar
आहिस्ता चल
आहिस्ता चल
Dr.Priya Soni Khare
■ रोचक यात्रा वृत्तांत :-
■ रोचक यात्रा वृत्तांत :-
*Author प्रणय प्रभात*
मुहब्बत हुयी थी
मुहब्बत हुयी थी
shabina. Naaz
due to some reason or  excuses we keep busy in our life but
due to some reason or excuses we keep busy in our life but
पूर्वार्थ
" एकता "
DrLakshman Jha Parimal
हम जियें  या मरें  तुम्हें क्या फर्क है
हम जियें या मरें तुम्हें क्या फर्क है
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
दोहा बिषय- दिशा
दोहा बिषय- दिशा
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
इश्क- इबादत
इश्क- इबादत
Sandeep Pande
हथेली पर जो
हथेली पर जो
लक्ष्मी सिंह
💐अज्ञात के प्रति-52💐
💐अज्ञात के प्रति-52💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
2497.पूर्णिका
2497.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
Loading...