Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 Jun 2018 · 1 min read

सोशल मीडिया का असर –आर के रस्तोगी

शेयर कर लेते है,सारी दुनिया को सोशल मीडिया के द्वारा
शेयर नहीं कर पाते माँ-बाप से जिन्होंने दुनिया में उतारा

माफ़ कर देते है माँ-बाप,अपने बच्चों को,जो गलती करते बार बार
पर बच्चे माफ़ नहीं करते,माँ-बाप को जो गलती करते है एक बार

ये कैसे सोशल मीडिया है,जो अपनों से रहते है हम दूर
अपने घर में रहते हुये भी,हो जाते है अपनो से ही दूर

लगाते है काफी वख्त केवल, सोशल मीडिया पर हम सब
पर एक घंटा भी नहीं दे पाते जब रहते अपने घर हम सब

इस सोशल मीडिया से कारण हम कितने अनसोशल हो रहे
अपने माँ-बाप को छोड़ कर गैरो से हम गप-शप कर रहे

सोशल मीडिया एक अभिशाप हो चूका है,आज इस समय पर
हम अपने पैरो कुल्हाड़ी मार रहे,नमक छिडक रहे है घाव पर

रस्तोगी और अधिक क्या लिखे ,इस सोशल मीडिया पर
हम अपने आप को खो रहे है सोशल मीडिया को पा कर

आर के रस्तोगी
मो 997106425

Language: Hindi
246 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ram Krishan Rastogi
View all
You may also like:
चढ़ा हूँ मैं गुमनाम, उन सीढ़ियों तक
चढ़ा हूँ मैं गुमनाम, उन सीढ़ियों तक
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
कसौटियों पर कसा गया व्यक्तित्व संपूर्ण होता है।
कसौटियों पर कसा गया व्यक्तित्व संपूर्ण होता है।
Neelam Sharma
न बोले तुम
न बोले तुम
Surinder blackpen
बैठा हूँ उस राह पर जो मेरी मंजिल नहीं
बैठा हूँ उस राह पर जो मेरी मंजिल नहीं
Pushpraj Anant
ज़िंदगी को जीना है तो याद रख,
ज़िंदगी को जीना है तो याद रख,
Vandna Thakur
बदल सकता हूँ मैं......
बदल सकता हूँ मैं......
दीपक श्रीवास्तव
■कड़वा सच■
■कड़वा सच■
*प्रणय प्रभात*
" रहना तुम्हारे सँग "
DrLakshman Jha Parimal
बदल गया जमाना🌏🙅🌐
बदल गया जमाना🌏🙅🌐
डॉ० रोहित कौशिक
मुश्किलें जरूर हैं, मगर ठहरा नहीं हूँ मैं ।
मुश्किलें जरूर हैं, मगर ठहरा नहीं हूँ मैं ।
पूर्वार्थ
रमेशराज के 'नव कुंडलिया 'राज' छंद' में 7 बालगीत
रमेशराज के 'नव कुंडलिया 'राज' छंद' में 7 बालगीत
कवि रमेशराज
* बढ़ेंगे हर कदम *
* बढ़ेंगे हर कदम *
surenderpal vaidya
"अमरूद की महिमा..."
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
नीलेश
नीलेश
Dhriti Mishra
*वरद हस्त सिर पर धरो*..सरस्वती वंदना
*वरद हस्त सिर पर धरो*..सरस्वती वंदना
Poonam Matia
आरजू ओ का कारवां गुजरा।
आरजू ओ का कारवां गुजरा।
Sahil Ahmad
जो नि: स्वार्थ है
जो नि: स्वार्थ है
Mahetaru madhukar
कौन है वो ?
कौन है वो ?
Rachana
दुर्लभ हुईं सात्विक विचारों की श्रृंखला
दुर्लभ हुईं सात्विक विचारों की श्रृंखला
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
खेल सारा वक्त का है _
खेल सारा वक्त का है _
Rajesh vyas
आदमी की संवेदना कहीं खो गई
आदमी की संवेदना कहीं खो गई
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मां
मां
goutam shaw
समर्पण.....
समर्पण.....
sushil sarna
कोरी आँखों के ज़र्द एहसास, आकर्षण की धुरी बन जाते हैं।
कोरी आँखों के ज़र्द एहसास, आकर्षण की धुरी बन जाते हैं।
Manisha Manjari
मेरी कलम से…
मेरी कलम से…
Anand Kumar
---- विश्वगुरु ----
---- विश्वगुरु ----
सूरज राम आदित्य (Suraj Ram Aditya)
वो रास्ता तलाश रहा हूं
वो रास्ता तलाश रहा हूं
Vikram soni
फागुनी धूप, बसंती झोंके
फागुनी धूप, बसंती झोंके
Shweta Soni
2934.*पूर्णिका*
2934.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
बात बस कोशिशों की है
बात बस कोशिशों की है
Dr fauzia Naseem shad
Loading...