Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
23 Jul 2016 · 1 min read

सोचती हूँ…..

सोचती हूँ
किसी दिन पी लूं
तुम्हारे होठों की मय
एक ही सांस में
और कूद जाऊं
तुम्हारी आँखों की
पनीली झील में
तुम पुकारो मुझे
मेरा नाम लेकर
और मैं घुल जाऊं
तुम्हारी साँसों की
गहरी नील में ….!
© डॉ प्रिया सूफ़ी

Language: Hindi
2 Likes · 2 Comments · 488 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
साँझ ढली पंछी चले,
साँझ ढली पंछी चले,
sushil sarna
ये अलग बात है
ये अलग बात है
हिमांशु Kulshrestha
शक्तिहीनों का कोई संगठन नहीं होता।
शक्तिहीनों का कोई संगठन नहीं होता।
Sanjay ' शून्य'
Yado par kbhi kaha pahra hota h.
Yado par kbhi kaha pahra hota h.
Sakshi Tripathi
#Dr Arun Kumar shastri
#Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
जीवन को
जीवन को
Dr fauzia Naseem shad
"निक्कू खरगोश"
Dr Meenu Poonia
चंद्रयान 3 ‘आओ मिलकर जश्न मनाएं’
चंद्रयान 3 ‘आओ मिलकर जश्न मनाएं’
Author Dr. Neeru Mohan
3158.*पूर्णिका*
3158.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
संकल्प
संकल्प
Dr. Pradeep Kumar Sharma
रोहित एवं सौम्या के विवाह पर सेहरा (विवाह गीत)
रोहित एवं सौम्या के विवाह पर सेहरा (विवाह गीत)
Ravi Prakash
जनता के आगे बीन बजाना ठीक नहीं है
जनता के आगे बीन बजाना ठीक नहीं है
कवि दीपक बवेजा
फितरत से बहुत दूर
फितरत से बहुत दूर
Satish Srijan
बदलती हवाओं की परवाह ना कर रहगुजर
बदलती हवाओं की परवाह ना कर रहगुजर
VINOD CHAUHAN
उगते हुए सूरज और ढलते हुए सूरज मैं अंतर सिर्फ समय का होता है
उगते हुए सूरज और ढलते हुए सूरज मैं अंतर सिर्फ समय का होता है
Annu Gurjar
यहां कश्मीर है केदार है गंगा की माया है।
यहां कश्मीर है केदार है गंगा की माया है।
सत्य कुमार प्रेमी
भारत को हिंदू राष्ट्र बनाने का उपाय
भारत को हिंदू राष्ट्र बनाने का उपाय
Shekhar Chandra Mitra
मेला
मेला
Dr.Priya Soni Khare
दिल तो ठहरा बावरा, क्या जाने परिणाम।
दिल तो ठहरा बावरा, क्या जाने परिणाम।
Suryakant Dwivedi
💐प्रेम कौतुक-390💐
💐प्रेम कौतुक-390💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
"मोहे रंग दे"
Ekta chitrangini
साए
साए
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
पल
पल
Sangeeta Beniwal
अमीरों का देश
अमीरों का देश
Ram Babu Mandal
■ आस्था के आयाम...
■ आस्था के आयाम...
*Author प्रणय प्रभात*
" क्यूँ "
Dr. Kishan tandon kranti
महाकविः तुलसीदासः अवदत्, यशः, काव्यं, धनं च जीवने एव सार्थकं
महाकविः तुलसीदासः अवदत्, यशः, काव्यं, धनं च जीवने एव सार्थकं
AmanTv Editor In Chief
कुछ लड़कों का दिल, सच में टूट जाता हैं!
कुछ लड़कों का दिल, सच में टूट जाता हैं!
The_dk_poetry
गनर यज्ञ (हास्य-व्यंग्य)
गनर यज्ञ (हास्य-व्यंग्य)
दुष्यन्त 'बाबा'
Loading...