Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#10 Trending Author
Apr 28, 2022 · 1 min read

सोए है जो कब्रों में।

चलों मिलते है आज पूराने लोगों से।
जो अपने ही है जाके सोए है कब्रों में।।1।।

सुकूँन ओ आराम में सब के सब है।
दुनियां की नजरो में है जो बेकद्रों से।।2।।

महफूज ना है आबरू अब कहीं ही।
इज्जत को डर है घरके ही दरिंदों से।।3।।

दीवाने है परेशां ना करो सवालों से ।।
हर बार ही जवाब दिया है नजरों से।।4।।

मोहबबत है हमको तुम्ही से सनम।
हमनें तो हमेशा कहा है इन लबों से।।5।।

पढ़ लेना जाकर किताबों खतों को।
मेरी चाहत के निशां होगे किताबो में।।6।।

ताज मोहम्मद
लखनऊ

2 Comments · 66 Views
You may also like:
इंसाफ के ठेकेदारों! शर्म करो !
ओनिका सेतिया 'अनु '
गर्भ से बेटी की पुकार
Anamika Singh
हसरतें थीं...
Dr. Meenakshi Sharma
अक्षय तृतीया की हार्दिक शुभकामनाएं
sheelasingh19544 Sheela Singh
बचपन की यादें
Anamika Singh
✍️शब्दांच्या संवेदना...✍️
"अशांत" शेखर
हे कृष्णा पृथ्वी पर फिर से आओ ना।
Taj Mohammad
बदरिया
Dhirendra Panchal
एक शख्स ही ऐसा होता है
Krishan Singh
✍️शरारत✍️
"अशांत" शेखर
" नाखून "
Dr Meenu Poonia
*अंतिम प्रणाम ..अलविदा #डॉ_अशोक_कुमार_गुप्ता* (संस्मरण)
Ravi Prakash
ईश्वर की ठोकर
Vikas Sharma'Shivaaya'
रुक क्यों जाता हैं
Taran Verma
✍️जिद्द..!✍️
"अशांत" शेखर
बुद्ध पूर्णिमा पर तीन मुक्तक।
Anamika Singh
कैसी भी हो शराब।
Taj Mohammad
फ़ासला
मनोज कर्ण
पिता का सपना
Prabhudayal Raniwal
सफल होना चाहते हो
Krishan Singh
योग क्या है और इसकी महत्ता
Ram Krishan Rastogi
कर्मठ राष्ट्रवादी श्री राजेंद्र कुमार आर्य
Ravi Prakash
" ओ मेरी प्यारी माँ "
कुलदीप दहिया "मरजाणा दीप"
कल जब हम तुमसे मिलेंगे
Saraswati Bajpai
परिवाद झगड़े
ईश्वर दयाल गोस्वामी
ईश्वर की परछाई
AMRESH KUMAR VERMA
सहारा
अरशद रसूल /Arshad Rasool
चल अकेला
Vikas Sharma'Shivaaya'
💐💐सुषुप्तयां 'मैं' इत्यस्य भासः न भवति💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
*मन या तन *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
Loading...