Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Jul 2023 · 1 min read

सेवा की महिमा कवियों की वाणी रहती गाती है

सेवा की महिमा कवियों की वाणी रहती गाती है
सेवा के बदले में मेवा बिन माँगे मिल जाती है
सेवा करें पिता-माता की, असहायों, लाचारों की
मिटती है भव-बाधा सारी, ऋद्धि-सिद्धि घर आती है

– महेश चन्द्र त्रिपाठी

238 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from महेश चन्द्र त्रिपाठी
View all
You may also like:
एक शख्स
एक शख्स
Pratibha Pandey
एक वृक्ष जिसे काट दो
एक वृक्ष जिसे काट दो
भवानी सिंह धानका 'भूधर'
"आओ हम सब मिल कर गाएँ भारत माँ के गान"
Lohit Tamta
मैं विवेक शून्य हूँ
मैं विवेक शून्य हूँ
संजय कुमार संजू
जब तक प्रश्न को तुम ठीक से समझ नहीं पाओगे तब तक तुम्हारी बुद
जब तक प्रश्न को तुम ठीक से समझ नहीं पाओगे तब तक तुम्हारी बुद
Rj Anand Prajapati
किस दौड़ का हिस्सा बनाना चाहते हो।
किस दौड़ का हिस्सा बनाना चाहते हो।
Sanjay ' शून्य'
मैं हूं कार
मैं हूं कार
Santosh kumar Miri
*सब पर मकान-गाड़ी, की किस्त की उधारी (हिंदी गजल)*
*सब पर मकान-गाड़ी, की किस्त की उधारी (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
मेरी माटी मेरा देश भाव
मेरी माटी मेरा देश भाव
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
मंजिल तक पहुँचने के लिए
मंजिल तक पहुँचने के लिए
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
आप हाथो के लकीरों पर यकीन मत करना,
आप हाथो के लकीरों पर यकीन मत करना,
शेखर सिंह
किसी भी चीज़ की आशा में गँवा मत आज को देना
किसी भी चीज़ की आशा में गँवा मत आज को देना
आर.एस. 'प्रीतम'
लगन लगे जब नेह की,
लगन लगे जब नेह की,
Rashmi Sanjay
🚩🚩 कृतिकार का परिचय/
🚩🚩 कृतिकार का परिचय/ "पं बृजेश कुमार नायक" का परिचय
Pt. Brajesh Kumar Nayak
कभी कभी छोटी सी बात  हालात मुश्किल लगती है.....
कभी कभी छोटी सी बात हालात मुश्किल लगती है.....
Shashi kala vyas
★भारतीय किसान ★
★भारतीय किसान ★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
चारू कात देख दुनियां कें,सोचि रहल छी ठाड़ भेल !
चारू कात देख दुनियां कें,सोचि रहल छी ठाड़ भेल !
DrLakshman Jha Parimal
हुकुम की नई हिदायत है
हुकुम की नई हिदायत है
Ajay Mishra
ग़ज़ल
ग़ज़ल
प्रीतम श्रावस्तवी
हर पल ये जिंदगी भी कोई ख़ास नहीं होती।
हर पल ये जिंदगी भी कोई ख़ास नहीं होती।
Phool gufran
#क़तआ (मुक्तक)
#क़तआ (मुक्तक)
*प्रणय प्रभात*
चन्द्रयान 3
चन्द्रयान 3
Jatashankar Prajapati
उजाले अपनी आंखों में इस क़दर महफूज़ रखना,
उजाले अपनी आंखों में इस क़दर महफूज़ रखना,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
*बताओं जरा (मुक्तक)*
*बताओं जरा (मुक्तक)*
Rituraj shivem verma
3092.*पूर्णिका*
3092.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
कोहरा
कोहरा
Ghanshyam Poddar
कागज़ पे वो शब्दों से बेहतर खेल पाते है,
कागज़ पे वो शब्दों से बेहतर खेल पाते है,
ओसमणी साहू 'ओश'
सारी दुनिया में सबसे बड़ा सामूहिक स्नान है
सारी दुनिया में सबसे बड़ा सामूहिक स्नान है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
रूपान्तरण
रूपान्तरण
Dr. Kishan tandon kranti
Loading...